ALL स्वास्थ्य मुज़फ्फरनगर शामली राज्य नेशनल अपराध सरधना आर्थिक जगत BULANDSHAHAR
प्लास्टिक मुक्त भारत रैली निकाली
September 23, 2019 • एडमिन

सोमवार को जिला महिला चिकित्सालय मुजफ्फरनगर के तत्वाधान में स्वच्छता अभियान के अंतर्गत हयूमेनिटी वेलफेयर सोसाइटी व सम्राट इंटर कॉलेज के सौजन्य से प्लास्टिक मुक्त भारत विषय पर एक रैली का आयोजन किया गया। जिसको जिला महिला चिकित्सालय सी.एम.एस. डॉ. अमिता गर्ग व विद्यालय चेयरमैन डा. सम्राट के द्वारा हरी झंडी दिखाकर रवाना किया गया। जिसमें विद्यालय के लगभग छात्रों ने प्रतिभाग किया एवं मिमलाना  रोड पर सभी दुकानदारों एवं आने जाने वालों को पॉलिथीन मुक्त भारत को करने के लिए प्रेरित किया एवं साथ के साथ सभी दुकानदार भाइयों ने भी आश्वासन दिया कि ना हम पॉलिथीन का प्रयोग करेंगे और ना करने देंगे।और यह सम्राट इंटर कॉलेज की पहल सराहनीय पहल है जिसका आम जनमानस को फायदा मिलेगा। विद्यालय में उपस्थित जिला महिला चिकित्सालय डॉ अमिता गर्ग ने विद्यालय की तारीफ करते हुए कहा कि विद्यालय के द्वारा समय-समय पर बहुत से स्वच्छता अभियान चलाए जा रहे हैं जो काबिले तारीफ है और एक दिन विद्यालय की मेहनत अवश्य रंग लाएगी इससे पहले भी विद्यालय के द्वारा स्वच्छता अभियान पर विद्यालय के छात्र-छात्राओं द्वारा एक नुक्कड़ नाटक का आयोजन जिला महिला चिकित्सालय में किया गया था जिससे जिला महिला चिकित्सालय में आने वाले मरीजों एवं तीमारदारों ने संकल्प लिया था किना गंदगी करेंगे और ना करने देंगे इस तरह की पहल सम्राट इंटर कॉलेज की सराहनीय पहल है मैं स्वयं समय-समय पर विद्यालय के छात्र छात्राओं का उत्साहवर्धन करती रहूंगी। विद्यालय चेयरमैन डॉ सम्राट ने कहा कि भारत सरकार के निर्देशानुसार पॉलिथीन मुक्त भारत अभियान चलाया जा रहा है जिसमें पॉलीथिन को प्रतिबंधित करने के अतिरिक्त इससे होने वाले दुष्प्रभाव को रोकने वह इसके प्रभाव को कम करने हेतु युद्ध स्तर पर जन जागरूकता एवं प्रोत्साहन जैसे कार्यक्रमों का आयोजन किया जा रहा है। जिसमें आज सम्राट इंटर कॉलेज के विद्यार्थियों द्वारा एक रैली का आयोजन किया गया एवं इसी प्रकार आगे भी समय-समय पर विद्यालय के द्वारा इस तरह के प्रोग्राम किए जाते रहेंगे। रैली में मुख्य रूप से हयूमेनिटी वेलफेयर सोसाइटी के सचिव एम. शाहवेज, शाह फैसल, सम्राट इंटर कॉलेज के प्रधानाचार्य डॉ अरशद सम्राट हेल्प डेक्स मैनेजर जिला महिला चिकित्सालय सबा रानी एवं समस्त स्टाफ का मुख्य योगदान रहा।