ALL स्वास्थ्य मुज़फ्फरनगर शामली राज्य नेशनल अपराध सरधना आर्थिक जगत
आत्मविश्वास का नाम है महिला: रीना अग्रवाल
March 8, 2020 • TRUE स्टोरी टीम • मुज़फ्फरनगर

रीना अग्रवाल

हेड वेस्ट यूपी एस आई पी

महिला एक आत्मविश्वास का नाम है। वह नाजुक है, शारीरिक बल में पुरुषों से कम है परंतु भावनाओं की विविधता उसके अंदर है, इन्हीं के कारण पुरुष उन्हें अबला समझता है। परंतु यह सब कमजोरियां उसके अंदर सहनशीलता लाती है और यही सहनशीलता उसको मानसिक रूप से सशक्त बनाती हैं और जब वह इस शक्ति के साथ समाज में ऊपर उठकर कार्य करने की ठान लेती है तब वह अपने कर्म, धर्म, व्यवहार, संस्कृति और बलिदान से समाज के समक्ष एक आदर्श प्रस्तुत करती है और समाज की मुख्यधारा में अपना महत्वपूर्ण योगदान देती है।
सावित्रीबाई फुले जिन्होंने सर्वप्रथम कन्या और महिलाओं को पढ़ने की आजादी दिलवाई से लेकर कमला नेहरू, कस्तूरबा गांधी, झांसी की रानी, रानी सती से लेकर आज निर्मला सीतारमण, अंशुला कांत, अरुणिमा सिन्हा, हिमा दास, मैरीकॉम,  पी वी संधू जैसी महिलाएं  जिनका  आर्थिक, शिक्षा, राजनीतिक, खेलजगत और समाज   के  प्रत्येक क्षेत्र में महत्वपूर्ण योगदान है। आज उससे भी आगे बढ़कर मुथैया बनीथा और रितु करदाल जैसी महिलाएं जिन्होंने अंतरिक्ष मे चन्द्रयान -2 के मिशन में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई। यह सभी हमारे देश की महिलाओं को ही नहीं अपितु पुरुषों को भी प्रेरित करती हैं। ऐसी हमारी भारत की नारियों को शत शत नमन। 🙏  मैं आशा करती हूं कि हमारी देश की बहने और बेटियां  इन सभी से प्रेरणा लेते हुए अपने मन की दुर्बलता को दूर करके आत्मविश्वास के साथ अपने को सशक्त करेंगी।