ALL स्वास्थ्य मुज़फ्फरनगर शामली राज्य नेशनल अपराध सरधना आर्थिक जगत BULANDSHAHAR
अदालत स्टे के बावजूद भी तोड़ दी दबंगों ने धर्मस्थल की दीवार?
January 22, 2020 • TRUE स्टोरी टीम

 

(अहमद हुसैन)

सरधना के जुल्हेड़ा रोड पर काफी दिन से चल रहे मस्जिद भूमि के मामले में कोई राहत मिलती नजर नहीं आ रही है जहां दोनों पक्ष एक दूसरे पर दीवार तोड़ मस्जिद की भूमि पर कब्जा करने का आरोप लगा रहे हैं वही  प्रशासनिक अधिकारी या पुलिस अधिकारी इस मामले पर कोई खास तवज्जो नहीं दे रहे हैं। मस्जिद पक्ष का मानना है के विवादित भूमि मस्जिद की संपत्ति है तो वहीं दूसरे पक्ष का मानना है यह भूमि उन्होंने बेनामी द्वारा खरीदी है जो मस्जिद की नहीं है। इस मामले में कई बार संघर्ष एवं मारपीट भी दोनों पक्षों के बीच हो चुकी है जिसमें पुलिस पर भी एकतरफा कार्रवाई करने के आरोप लग चुके हैं।  8/1/20 को भी विवादित भूमि पर बनी दीवार को रात में तोड़ दिया गया था जिसमें इरफान पक्ष की ओर से तहरीर पर पुलिस ने लगभग आधा दर्जन लोगों के खिलाफ गंभीर धाराओं में मुकदमा दर्ज किया था। जबकि दूसरे पक्ष की ओर से सीओ को दिए गए प्रार्थना पत्र में कहा गया था कि इरफान पक्ष ने खुद ही रात में यह दीवार तोड़ दी है और और गलत तरीके से झूठा मुकदमा लिखवा दिया गया है। इस संबंध में आज मस्जिद के इमाम इस्तियाक ने जिलाधिकारी का नाम तहरीर देते हुए सरधना पुलिस पर एक तरफा कार्यवाही करने का आरोप लगाया है तहरीर में मस्जिद के  इमाम इश्तियाक ने कहां है कि थाना प्रभारी ने नमाजियों को भी 107,16 निरुद्ध कर दिया है जिनका इस विवाद से कोई लेना देना नहीं है ।इधर थाना प्रभारी उपेंद्र मलिक ने बताया कि इस भूमि का विवाद कोर्ट में विचाराधीन है इसलिए पुलिस  लॉ एंड ऑर्डर का ख्याल रखते हुए किसी भी सूरत में कोई बखेड़ा नहीं खड़ा होने देगी।पुलिस ने जांच के बाद ही उन लोगों को 107 16 की कार्यवाही में निरुद्ध किया है जो लोग इस विवाद में शामिल है पुलिस जांच और तथ्यों के आधार पर कार्यवाही करती है ना की किसी के दबाव में। क्षेत्र में अगर कोई भी माहौल को खराब करने की कोशिश करेगा उसको भी किसी सूरत में बख्शा नहीं जाएगा,,।

अहमद हुसैन
True स्टोरी