ALL स्वास्थ्य मुज़फ्फरनगर शामली राज्य नेशनल अपराध सरधना आर्थिक जगत BULANDSHAHAR
अपात्र लोगो को पात्र दर्शाकर योजना का लाभ दिलाने की शिकायत
March 29, 2020 • TRUE स्टोरी टीम • मुज़फ्फरनगर

नईम चौधरी
मीरापुर। केन्द्र सरकार द्वारा चलायी जा रही महात्मा गाँधी राष्ट्रीय रोजगार गारन्टी योजना में सम्बन्धित अधिकारियों ने मिलीभगत कर अपात्र लोगो को पात्र दर्शाकर योजना का लाभ दिलाया है। इस कारण गरीबी रेखा से नीचे जीने वाले बेरोजगार ग्रामीण योजना संे वंचित रह गये हैं। इस भेदभावपूर्ण कार्य से बेरोजगार ग्रामीणो में रोष व्याप्त है।
महात्मा गाँधी राष्ट्रीय रोजगार गारन्टी योजना अधिनियम के तहत प्रत्येक वर्ष बेरोजगार ग्रामीण परिवारो को 100 दिन का रोजगार के साथ अन्य योजनाओं का लाभ दिलाया जाता है। कोरोना वायरस के चलते केन्द्र सरकार ने सभी नियमित कार्ड धारको को तीन महीने तक 35 किलो राशन व खादय सामग्री प्रदान करने का प्रस्ताव पारित किया है। लेकिन इस योजना में कुछ सम्पन्न परिवार के लोग भी शामिल हो गये हैं। जिस कारण पात्र ग्रामीण इस योजना का लाभ उठाने में असमर्थ हो गये हैं। इस योजना में कुछ रिटायर्ड सरकारी कर्मचारियों व किसानो के नाम भी शामिल हैं। ये सभी लोगा वर्षो से घर बैठे ही इस योजना का लाभ उठा रहे हैं। योजना में ऐसे लोगो को पत्र दर्शाया गया है जिन्होने अपने जीवन काल में कभी मजदूरी की ही नही है। मिली भगत के चलते सम्पन्न परिवारो को भी इस योजना का लाभ दिलाया जा रहा है। इस कारण बेरोजगार ग्रामीण परिवार योजना से वंचित रह गये हैं। ग्रामीणो ने उच्चाधिकारियों से इस योजना की जांच करा कर पात्र व्यक्तियों को योजना का लाभ दिये जाने की मांग की है।