ALL स्वास्थ्य मुज़फ्फरनगर शामली राज्य नेशनल अपराध सरधना आर्थिक जगत BULANDSHAHAR
भाकियू की रेलवे स्टेशन घेराव की चेतावनी का असर,रेलवे फ्रंट कॉरिडोर  ने मानी किसानों की मांग, सभी खातेदारों को मिलेगी अनुदान की राशि
November 20, 2019 • TRUE स्टोरी टीम

  
मुज़फ्फरनगर।पिछले दिनों खतौली में भारतीय किसान यूनियन की पंचायत में भाकियू के मंडल महासचिव राजू अहलावत द्वारा घोषणा की गई थी की अगर सभी किसानों को रेलवे फ्रंट  कॉरिडोर परियोजना में अनुदान की राशि ₹500000 नहीं दी  जाती है तो भारतीय किसान यूनियन 25 तारीख को मुजफ्फरनगर रेलवे स्टेशन का घेराव करेगी। पिछले दिनों रेलवे फ्रंट  कॉरिडोर द्वारा निर्णय लिया गया था कि अनुदान की राशि केवल एक ही खातेदार को दी जाएगी। एक खाते में कई किसानों  के नाम सामूहिक दर्ज हैं और सभी की जमीन का अधिग्रहण किया गया है। पूर्व में भी सभी खातेदारों को अनुदान की राशि का वितरण किया जा रहा था ,लेकिन एक आदेश के तहत रेलवे द्वारा किसानों के हक मारने का प्रयास किया था ।जिसके विरोध में भारतीय किसान यूनियन द्वारा आसपास के सभी जनपदों में रेलवे फ्रंट कोरिडोर का निर्माण कार्य रुकवा दिया था ।इसी को लेकर आज अपर जिलाधिकारी प्रशासन अमित कुमार ,रेलवे फ्रंट डोर के अपर प्रोजेक्ट मैनेजर मदनलाल,भारतीय किसान यूनियन के राष्ट्रीय प्रवक्ता चौधरी राकेश टिकैत भाकियू  के मंडल महासचिव राजू अहलावत व जटनागला ,बधाई खुर्द, ट्बीटाआदि गांव के किसानों के साथ बैठक हुई जिसमे  रेलवे फ्रंट  कोरिडोर के अधिकारियों ने लिखित आदेश कर सभी किसानों को अनुदान देने का फैसला लिया है ।जिससे एक खाते में दर्ज सभी किसानों को इसका लाभ दिया जाएगा। अधिकारियों के साथ हुई इस बैठक में आने वाली 25 तारीख को रेलवे स्टेशन घेराव का कार्यक्रम मांग माने जाने के बाद स्थगित कर दिया गया है ।किसानों ने आर्बिट्रेशन के मामले जल्द से जल्द तय किए जाने की भी मांग की जिस पर जिला प्रशासन द्वारा 1 सप्ताह के अंदर आर्बिट्रेशन तय किए जाने का वादा किया है।