ALL स्वास्थ्य मुज़फ्फरनगर शामली राज्य नेशनल अपराध सरधना आर्थिक जगत BULANDSHAHAR
भूमाफियाओं ने लड़ा बेनामी फर्जी मुकदमा 
October 23, 2019 • TRUE स्टोरी टीम
 
 
 
मुज़फ्फरनगर। भू माफिया और सार्वजनिक भूमि पर अवैध कब्जे हटाने की मांग को लेकन ढाई दशक से धरना रत मास्टर विजय सिंह ने  7 माह से लम्बित अध्यक्ष राजस्व परिषद उत्तर प्रदेश लखनऊ के दोनों पत्रों पर जांच कर कार्यवाही कर सार्वजनिक करने तथा बेनामी व फर्जी लोगों के विरुद्ध मुकदमा पंजीकृत कराए जाने की मांग को लेकर जिलाधिकारी को पत्र लिखा है।
मास्टर विजय सिंह ने कहा कि सार्वजनिक भूमि पर अवैध कब्जा करने वाले भू माफियाओं द्वारा बेनामी व फर्जी लोगों के नाम से मुकदमा लड़ने वालों के भौतिक सत्यापन के संदर्भ में प्रार्थी ने अध्यक्ष राजस्व परिषद उत्तर प्रदेश लखनऊ को पत्र व साक्ष्य दिये थे जिस पर अध्यक्ष राजस्व परिषद  प्रवीर कुमार ने दिनांक 25 मार्च 2019 पत्र संख्या 21580 पी एस 2018-19 जिलाधिकारी को भेज कर कार्यवाही करने के आदेश दिए थे जिस पर आपके स्तर कोई कार्रवाई नहीं की गई फिर आयुक्त एवं सचिव राजस्व परिषद उत्तर प्रदेश लखनऊ ने फिर   08 जुलाई 2019 को पत्र संख्या 1379 शिकायत प्रकोष्ठ-64 . 2019  भेज कर कार्रवाई के लिए  आदेश दिए थे तथा जांच एवं कार्यवाही को के संदर्भ में प्रार्थी को भी अवगत कराने के लिए कहा था छह माह बीत गए हैं आपके स्तर से कोई जांच व कार्रवाई प्रतीत नहीं हो रही है। प्रार्थी ने कई पत्र दिये । मास्टर विजय सिंह ने कहां अध्यक्ष परिषद के दोनों पत्रों पर जिलाधिकारी को तत्काल संज्ञान लेकर फर्जीवाड़े़े पर कार्रवाई करनी चाहिए ।
 
  ज्ञात हो न्यायालय अपर जिलाधिकारी वित्त एवं राजस्व मुजफ्फरनगर में वाद संख्या 40 सन 2005-06 ओमवीर सोमबीर सतीश पुत्र गण हरपाल सिंह नेत्रपाल पुत्र बृजपाल को फर्जी रूप से निवासी चौसाना दर्शा कर मुकदमा लड़ा वकालतनामा व अन्य कागजों में निवासी चैसाना दिखाया जबकि यह चारों व्यक्ति हमारे गांव चौसाना के निवासी नहीं है फर्जी है बेनामी है विभिन्न प्रशासनिक जांच रिपोर्टों में उक्त चारों लोग फर्जी साबित पाये गये हैं इन चारों लोगों के नाम से पूर्व विधायक ठाकुर जगत सिंह व उसके भाई करण सिंह व जीत सिंह आदि ने फर्जी रूप से मुकदमा लड़ा है। प्रार्थी ने कई बार प्रार्थना पत्र देकर उनकी आईडी पहचान पत्र तथा कौन लोग हैं भौतिक सत्यापन कराने की मांग की है जो अब अध्यक्ष राजस्व परिषद के यहां विचाराधीन है। उक्त अपराध न्यायालय अपर जिलाधिकारी वित्त एवं राजस्व मुजफ्फरनगर का है जिसमें धोखाधड़ी व गलत तथ्य प्रस्तुत करने व बेनामी व फर्जी लोगों द्वारा मुकदमे लड़ने का प्रकरण है 
मास्टर विजय सिंह ने अनुरोध किया है 7 माह से पेंडिंग अध्यक्ष राजस्व परिषद उत्तर प्रदेश के दोनों पत्रों पर शीघ्र जांच कर प्रार्थी व अध्यक्ष राजस्व परिषद उत्तर प्रदेश को  अवगत कराते हुए न्यायालय अपर जिला अधिकारी वित्त एवं राजस्व मुजफ्फरनगर में  फर्जी में बेनामी लोगों पर मुकदमा लड़ने वालों के विरुद्ध मुकदमा पंजीकृत करा कार्रवाई की जाए। मास्टर विजय सिंह ने अध्यक्ष राजस्व परिषद उत्तर प्रदेश वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक मुजफ्फरनगर अपर जिलााधिकारी प्रशासन मुजफ्फरनगर को भी पत्र की कॉपी कार्रवाई हेतु प्रेषित की है