ALL स्वास्थ्य मुज़फ्फरनगर शामली राज्य नेशनल अपराध सरधना आर्थिक जगत BULANDSHAHAR
एस डी एम ने सरकारी जमीन पर धर्म स्थल सौन्दर्यकरण रुकवाया
October 10, 2019 • आशीष


खतौली गंगनहर घाट पर सालो पुराने हनुमान मंदिर को भव्य रूप देने के लिए कराए गए निर्माण को लेकर सिंचाई विभाग और जनता के बीच तनातनी हो गई। जिसके बाद सिंचाई विभाग के अधिकारियों ने निर्माण कार्य रुकवाया। मामले की सूचना के बाद मौके पर पहुँचे एसडीएम ने जानकारी लेने के बाद निर्माण कार्य को यथास्थिति बने रहने के कड़े निर्देश दिए। पूरे मामले के बाद लोगो मे सिंचाई विभाग के प्रति आक्रोश बना हुआ है।
खतौली गंगनहर घाट पर बने प्राचीन हनुमान मंदिर के  सौंदर्यकरण व भव्य रूप देने और शरारती तत्वों द्वारा किसी प्रकार की हानि न पहुचाने के लिए कस्बे की जनता के कुछ लोगो द्वारा हनुमान मंदिर का निर्माण कार्य कराया जा रहा था। बता दे कि नहर घाट पर पीपल के पेड़ के नीचे खुले में हनुमान की प्रतिमा स्थापित है। जिसके चारों ओर जाल लगा हुआ है। इसी मंदिर को भव्य रूप देने के लिये कस्बे के कुछ हिन्दू समाज के लोगो द्वारा चार दीवारी और लेंटर डाल कर निर्माण कराया जा रहा था। लेकिन जब गुरुवार को सिंचाई विभाग मजिस्ट्रेट राजीव कुमार को इसकी जानकारी लगी तो उन्होंने मौके पर पहुँच मंदिर निर्माण को अवैध बताते हुय निर्माण कार्य रुकवाने और हटवाने का प्रयास किया। जिसके बाद लोगो में उनके प्रति आक्रोश फुट पड़ा और विभाग के अधिकारियों के बीच तनातनी हो गई। वही मंदिर निर्माण का कार्य रुकवाने की सूचना के बाद मौके पर पहुँचे विधायक प्रतिनिधि पंकज भटनागर व दर्जनों लोगों  कपिल राठी, संजय अहलावत, बिट्टू चौधरी, बबिता चौधरी, विनोद ठाकुर ने आक्रोश व्यक्त करते हुए राजीव कुमार से वार्ता की जहाँ दोनो के बीच जमकर नोक झोंक हुई। मामले की जानकारी मिलने के बाद मौके पर पहुँचे खतौली उपजिलाधिकारी और कोतवाल ने लोगो और सिंचाई विभाग के अधिकारियों से मामले की जानकारी लेने के बाद मंदिर स्थल का निरीक्षण किया। जिसके बाद एसडीएम ने लोगो को शांत करते हुय बिना परमिशन के मंदिर निर्माण न करने के कड़े निर्देश देते हुय मंदिर निर्माण को यथास्थिति बने रहने के निर्देश दिये। विधायक प्रतिनिधि ने बताया कि खतौली गंगनहर घाट पर लगभग 30 साल पुराना हनुमान मंदिर स्थापित है। जिसे भव्य रूप देने के लिए निर्माण कार्य कार्य जा रहा था। यही नही शासन से विधायक विक्रम सैनी द्वारा भव्य मंदिर और नहर के घाट के  सौंदर्य करण कराने के लिए 40 लाख रुपये पास कराए गए। जिसके बाद जल्द ही नहर घाट का सौंदर्यकरण कराया जाएगा। अधिकारियों की चेतावनी के बाद लोग शांत हुए। वही सिंचाई विभाग की कार्यवाही के प्रति लोगो मे भारी आक्रोश बना हुआ है। 

महिला ने लगाया अभद्रता करने का आरोप
खतौली। मंदिर निर्माण के दौरान सिंचाई विभाग और लोगो के बीच हुई तनातनी के दौरान वहाँ मौजूद महिला बबिता चौधरी ने सिंचाई विभाग के अधिकारी राजीव कुमार द्वारा उसके साथ अभद्रता और जेल भिजवाने की धमकी देने का आरोप लगाया। जब इस सम्बंध में राजीव कुमार से पूछा गया तो उन्होंने भी महिला पर उनके साथ अभद्रता से पेश आने की बात कही। 


त्यौहारों को लेकर तीन दिन की छुट्टी के दौरान नहर के घाट पर कुछ लोगो द्वारा अवैध मंदिर का निर्माण कराया गया था। गुरुवार को उन्होंने मौके पर पहुँच मंदिर निर्माण को रुकवाने और हटाने का प्रयास किया गया था।जिसके बाद खतौली एसडीएम द्वारा मामले की जांच कर निर्माण कार्य रुकवाया गया। और एसडीएम द्वारा यथास्थिति बने रहने के निर्देश दिए गए। विधायक द्वारा 40 लाख मंदिर निर्माण में लगाने की बात पर उन्होंने कहा कि जब उन्हें शासन और प्रशासन की और से आदेश मिले गा तो उसके बाद ही घाट पर मन्दिर की रूपरेखा तैयार कर नक्शे से भव्य मंदिर का निर्माण कराया जाएगा।