ALL स्वास्थ्य मुज़फ्फरनगर शामली राज्य नेशनल अपराध सरधना आर्थिक जगत BULANDSHAHAR
गर्ल फ्रेंड को 50 हज़ार देने थे, गोली मार दी। मुज़फ्फरनगर से खरीदकर ले गया था पिस्टल
October 31, 2019 • TRUE स्टोरी टीम

देहरादून में धूलकोट के जंगल में दूध सप्लाई करने वाले युवक से लूट के प्रयास के दौरान गोली मारने के मामले में पुलिस ने आईएमए के शैफ समेत चार आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया। पुलिस का दावा है कि मुख्य आरोपी मंजीत गोलिया ने गर्लफ्रेंड की 50 हजार रुपये देने की डिमांड पूरी करने को घटना को अंजाम दिया। यह वारदात दूध विक्रेता की मुखबिरी पर अंजाम दी गई थी।पिस्टल वह मुज़फ्फरनगर से खरीदकर ले गया था। अब पुलिस को मुज़फ्फरनगर के असलाह कारोबारी की भी तलाश है।
प्रेमनगर के धूलकोट के जंगल में मंगलवार दोपहर कार सवार बदमाशाें ने दूध विक्रेता अंकित को लूटपाट का प्रयास किया था। विरोध करने पर बाइक सवार बदमाशों ने अंकित को गोली मार दी थी। मौके पर काफी लोगों के होने के कारण घबराहट में बदमाश बिना लूटपाट किए फरार हो गए थे। प्रेमनगर पुलिस ने 24 घंटे में लूटपाट की घटना का पर्दाफाश कर लुटेरों को जेल पहुंचा दिया।
_वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक अरुण मोहन जोशी ने बुधवार को मीडिया को पुलिस की इस उपलब्धि की जानकारी दी। उन्हाेंने बताया कि घटनास्थल से पुलिस को 32 बोर के दो खोखा बरामद हुए। दिन दहाडे़ हुई घटना को चुनौती के रूप में स्वीकार कर एसपी सिटी श्वेता चौबे की अगुवाई में शहर और देहात क्षेत्र की आठ टीमें गठित की गई थीं। सीसीटीवी फुटेज से महत्वपूर्ण सुराग मिल गया था।_
👉🏻 शैफ की नौकरी करने वाले मोहित के घर पर छापा मारा
_एसएसपी ने बताया कि प्रेमनगर थाने में तैनात कांस्टेबल केसर मुस्तफा जैदी और अमित को जानकारी मिली कि विकासनगर निवासी और दूध कारोबार से जुड़े देवदत्त के साथ घटना में शामिल लुटेरों को देखा गया है।_
_कार्रवाई को आगे बढ़ाते हुए आईएमए में शैफ की नौकरी करने वाले मोहित के घर पर छापा मारा गया। मौके से मंजीत गोलिया उर्फ  जाट निवासी फु रकास घिरान थाना गनोर (सोनीपत) हाल निवासी सेलाकुई, रोहित पटेल निवासी महावीर कालोनी पानीपत, मोहित कुमार निवासी पुराना पोस्ट  प्रेमनगर और देवदत्त निवासी विकासनगर को गिरफ्तार किया गया।
_इनके पास से 32 बोर की पिस्टल, घटना में प्रयुक्त मोटर साइकिल और एक कार बरामद हुई। पत्रकार वार्ता में एसपी सिटी श्वेता चौबे, एसपी देहात प्रमेन्द्र डोभाल, सीओ सिटी शेखर सुयाल इस दौरान मौजूद रहे।_
👉🏻 मंजीत की गर्लफ्रेंड ने मांगे थे 50 हजार
_पुलिस अधीक्षक नगर श्वेता चौबे ने पूछताछ के आधार पर बताया कि मंजीत ने प्रेमनगर में काफी समय चश्मे बेचने का काम किया है। इसके बाद कुछ समय होटल चलाने के बाद वह जमनपुर सेलाकुई चला गया था। पूछताछ में मंजीत ने बताया कि उसकी गर्लफ्रेंड कुछ समय से 50 हजार रुपये की डिमांड कर रही थी। इसी डिमांड पर पूरी करने के लिए लूट करने की योजना बनाई थी, लेकिन कामयाब नहीं हो सका। मंजीत के खिलाफ सोनीपत के गन्नौर थाने में मुकदमे बताए गए हैं।_
👉🏻 कई दिन पहले बनाई थी लूट की योजना
_एसएसपी ने बताया कि होटल कारोबार में नुकसान होने के कारण मंजित आर्थिक संकट से गुजर रहा था। उसने रोहित, देवदत्त और मोहित के साथ मिलकर दूध विक्रेताओं को लूटने की योजना बनाई थी। देवदत्त ने मुखबिरी की थी कि दीपावाली के समय दूध की मांग अधिक रहती है। ऐसे में दूध विक्रेता वापसी में कैश लेकर आते हैं। परम डेयरी के वाहन चालक अंकित को चिह्नित कर उसकी रेकी की गई।_
_देवदत्त ने अपनी डेयरी से परम दूध की एक खाली कैरेट उपलब्ध कराई। दूध की खाली कैरेट को सफेद कट्टे के अंदर रखकर आरोपी राजा वाले तिराहे से बाइक से अंकित के पीछे लग गए। धूलकोट का जंगल शुरू हुआ तो उन्होंने कट्टे से खाली कैरेट बाहर निकालकर सड़क पर गिरा दी। आरोपियों ने खाली कैरेट गिरने की बात कहकर अंकित से गाड़ी रुकवा ली। पिस्टल तानकर नगदी की मांग की तो वह विरोध पर उतर आया। इस दौरान मंजीत ने दो फायर किए, जिसमें एक गोली अंकित को लग गई। भीड़-भाड़ होने के कारण आरोपी भागकर सीधे मोहित के कमरे पर पहुंच गए।
👉🏻 डीजी ने दिया 10 हजार का इनाम
_पुलिस महानिदेशक कानून व्यवस्था अशोक कुमार ने प्रेमनगर लूटपाट का खुलासा करने वाली टीम में शामिल एसओ धर्मेन्द्र सिंह रौतेला, वसंत विहार एसओ नत्थी लाल उनियाल, उप निरीक्षक दर्शन लाल काला, नवनीत भंडारी, प्रवीण कुमार सैनी, शिवराम, कांस्टेबल मुस्तफा जैदी, अमित, नरेन्द्र सिंह, रामचंद्र, सोनू राठी, घसीटू सिंह, एसओजी के प्रमोद कुमार और आशीष शर्मा को 10 हजार रुपये का पुरस्कार देने की घोषणा की है।
मुजफ्फरनगर से खरीदी थी पिस्टल
एसपी सिटी श्वेता चौबे ने बताया कि प्रेमनगर में दूध विक्रेता अंकित को गोली मारने में प्रयुक्त पिस्टल मुजफ्फरनगर से खरीदी गई थी। मंजीत गोलिया 40 हजार रुपये में यह पिस्टल लाया था। हालांकि मंजीत का कहना था कि गन्नौर में चल रहे जमीन विवाद के चलते से यह पिस्टल पहले खरीदी थी।