ALL स्वास्थ्य मुज़फ्फरनगर शामली राज्य नेशनल अपराध सरधना आर्थिक जगत
घर खुश हो उठता है जब घर आती है बेटियां
February 14, 2020 • TRUE स्टोरी टीम • सरधना

 

(अहमद हुसैन)


सरधना के सेंट जोसेफ गर्ल्स(पीजी) डिग्री कॉलेज में चल रहे सात दिवसीय राष्ट्रीय सेवा योजना शिविर के पांचवे दिन आज स्वयं सेविकाओं द्वारा योगासन के साथ-साथ अन्य कार्यक्रमों की शुरुआत की गई। यूनिट सेकंड कि स्वयं सेविकाओं द्वारा आमंत्रित मेरठ से सुरभि परिवार के लोगों ने कार्यक्रम में शिरकत की सुरभि परिवार से आए दिनेश तलवार ने वहां पर सभी स्वयंसेवकों को ,बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ, का संदेश दिया तथा कहा ,बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ, एक ऐसा नारा है जो भारतवर्ष को। उसकी सही दिशा में ले जा सकता है इस नारे पर अमल करने वाले लोग सदा खुशियों में रहेंगे तथा साथ ही जनसंख्या नियंत्रण पर भी उपस्थित सभी स्वयंसेवकों का उत्साहवर्धन किया तथा कहा कि वह परिवार जो जनसंख्या पर नियंत्रण रख कर चल रहे हैं उनके बच्चों का भविष्य उज्जवल होगा तथा वह अपने बच्चों को अधिक शिक्षा एवं सम्मान दिला सकेंगे। सुरभि परिवार से आए प्रसिद्ध कवि ईश्वरचंद गंभीर ने कहा की। मंजिल मिले या ना मिले परंतु मनुष्य को प्रत्येक दशा मे अपनी मंजिल की ओर बढ़ते रहना चाहिए। बेटियों को बचाना उनको पढ़ाना यह परिवार की जिम्मेदारी है तथा जनसंख्या पर नियंत्रण रखना सभी की जिम्मेदारी है। अच्छे भविष्य के लिए अच्छे कार्य करते रहने आवश्यक है। कवि गंभीर द्वारा बताया गया कि वह 25 वर्षों से बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ मुहिम में हिस्सा ले रहे हैं तथा बेटियों पर काफी कविता भी लिख चुके हैं। इसी अवसर पर। सेकंड यूनिट की सभी स्वयं सेविकाओं ने। प्रधानमंत्री के नाम जनसंख्या नियंत्रण कानून बनाने और कन्या भ्रूण हत्या पर कठोर सजा का प्रावधान करने के लिए। पोस्टकार्ड लिखे जिन पोस्टकार्ड में छात्राओं ने। ड्राइंग के रंग भरे। तथा उनको सुंदर तरीके से सजाकर प्रधानमंत्री को भेजें। जिसमें जनसंख्या नियंत्रण कानून पर कठोरता से कार्यवाही करने की बात कही गई। ईश्वरचंद गंभीर ने ,,घर खुश हो उठता है जब घर आती है बेटियां,, कविता के माध्यम से सभी उपस्थित स्वयंसेवकों को एक संदेश देखने देने की कोशिश की तथा उनको बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ। का संदेश। दिया। और इसके प्रति जागरूक किया। कार्यक्रम के बीच आज ही के  दिन 1 वर्ष पूर्व  पुलवामा में हुए आतंकी हमले में मारे गए अमर शहीदों को याद किया गया तथा उनकी याद में 2 मिनट का मौन रख उन्हें श्रद्धांजलि अर्पित की गई। स्वयं सेविकाओंद्वारा सरकार को ,थिंक फॉर पोलूशन,के विषय में आवाज पहुंचाने की कोशिश की गई डॉ मीनाक्षी अग्रवाल डॉक्टर महिमा शर्मा डॉक्टर विदुषी त्यागी,शेखर मल्होत्रा ने भी बारी-बारी से। बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ। विषय पर अपनी बात रखी। इन सभी कार्यक्रमों के पश्चात एक रैली का आयोजन महाविद्यालय से शिविर स्थल तक किया गया। जिसमें। हाथों में। बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ व जनसंख्या नियंत्रण। पर लिखी हुई तख्तियां। लेकर। स्वयं सेविकाओं ने के साथ-साथ। कार्यक्रम अधिकारी डॉ अंजली मित्तल, डॉक्टर विदुषी त्यागी, डॉक्टर मीनाक्षी अग्रवाल, रही स्वयं सेविकाओं में काजल, स्वाति सिद्धू , सानिया, नम्रता चौहान, प्रिया, शाहीन मिर्जा,तबस्सुम, रिशु, आंचल, सोनाली, हया मिर्जा, आदि मौजूद रहे।

अहमद हुसैन
True स्टोरी