ALL स्वास्थ्य मुज़फ्फरनगर शामली राज्य नेशनल अपराध सरधना आर्थिक जगत BULANDSHAHAR
गुटखा बीड़ी तंबाकू विक्रेता प्रशासन के आदेशों की जमकर धज्जियां उड़ाते रहे
May 2, 2020 • TRUE स्टोरी टीम • राज्य

मवाना। (अनिल शर्मा)कोविड-19 विपदा की परिस्थिति में प्रदेश सरकार द्वारा कोरोना नियंत्रण हेतु उत्तरप्रदेश में गुटखा-बीड़ी, पान, तंबाकू आदि उत्पाद प्रतिबंधित कर दिए गए थे,  लेकिन उक्त अबधि में अधिकांश गुटखा बीड़ी तंबाकू विक्रेता प्रशासन के आदेशों की जमकर धज्जियां उड़ाते रह, उन्हें न तो सरकार के आदेशों की परवाह थी, न ही लोगो के स्वास्थ्य की चिंता, और न ही कोरोना संकट की।
अधिकांश दुकानदारों द्वारा जहाँ शासन/प्रशासन के आदेशों की धज्जियाँ उड़ाई जाती रही, वहीं इस विकट स्थिति में जमकर कालाबाजारी भी की जाती रही।
नगर एवं देहात क्षेत्र में अधिकांश दुकानदारों द्वारा आम दिनों में 05 रूपये में मिलने वाला गुटखा 20 रूपये में, कुबेर तंबाकू 10 रूपये के स्थान पर 30 रूपये में,बीड़ी का बण्डल 10 के स्थान पर 25 रूपये में बेचा जा रहा है,
गुपचुप तरीके से बेचने वाले कुछ दुकानदारों ने नाम न छापने की शर्त पर  बताया कि थोक विक्रेताओं द्वारा तीन से चार गुनी कीमत पर माल उपलब्ध कराया जा रहा है, तो वह कैसे कम बेच पाएं।
विपदा की इस स्थिति में जब पूरा देश तन मन धन से सरकार को सहयोग कर रहा है वहॉं अनेक व्यापारी उक्त परिस्थिति में भी सरकार के निर्देशों के इतर कालाबाजारी कर रहे हैं,
तथा सरकार की कोरोना की जंग विफल करने का भी प्रयास कर रहे हैं, आपदा की स्थिति में देशवासियो का धर्म है कि वह अपना सम्पूर्ण देशहित में लगाये, लेकिन कालाबाजारी करने वाले, सरकार के निर्देशों के विरुद्ध प्रतिबंधित वस्तुओं का विक्रय करने वाले देश को क्या दे रहे हैं यह भी एक विचारणीय प्रश्न है।