ALL स्वास्थ्य मुज़फ्फरनगर शामली राज्य नेशनल अपराध सरधना आर्थिक जगत
जुल्हेड़ा रोड मस्जिद का विवाद पहुंचा एसपी देहात के दरबार।
January 11, 2020 • TRUE स्टोरी टीम

भूमाफियाओं के खिलाफ की कार्रवाई की मांग।
 नवाबो द्वारा दी गई मस्जिद की जमीन को कब्जाने का मामला।
 पुलिस द्वारा एक पक्ष पर बिना जांच के किए गए मुकदमे का जताया एतराज
         
          ( अहमद हुसैन)

सरधना   नगर में जुल्हेड़ा रोड स्थित मस्जिद की ज़मीन पर भूमाफ़ियाओ द्वारा क़ब्ज़े का प्रयास करने और पुलिस द्वारा मस्जिद पक्ष के विरुद्ध ही मुकदमा पंजीकृत करने को लेकर सर्वसमाज के सैकड़ों लोग एसपी.देहात से मिले और पूरे प्रकरण की जानकारी दीं। एसपी देहात ने आश्वस्त किया की मामले की जाँच कराकर पंजीकृत मुक़दमा वापस होगा और भविष्य में कोर्ट के दिशानिर्देश के अनुरूप ही कार्यवाही होगी। 
 एसपी देहात को बताया गया कि जुल्हेड़ा रोड पर मस्जिद की ज़मीन नवाब शाह परिवार के पूर्वजों द्वारा 1935 में मस्जिद को अनुदान में दीं थी तभी से वहाँ नमाज़ सुचारु और शांतिपूर्ण रूप से होती आ रही है। लेकिन कुछ भूमाफ़िया, लोगों से मिलकर फ़र्ज़ी दस्तावेज के आधार पर उक्त मस्जिद की भूमि पर अवैध क़ब्ज़ा करना चाहते है। जब की पूर्व में भी भूमाफ़ियाओ के ख़िलाफ़ मुक़दमे पंजीक्रत हुए है। संयुक्त सर्वसमाज संगठन की माँग है की दोषियों के ख़िलाफ़ शख़्त क़ानूनी कार्यवाही हो। इस अवसर पर रोहित जाखड आगा ऐंनुद्दीन शाह आगा मोहम्मद अली शाह डा० मैराजद्दीन (पूर्व मंत्री) आगा एमी शाह नईम इन्द्रसेन समरपाल सिंह रामपाल हाजी अकबर चौधरी मुख़्तार खान आदि शामिल रहे। 
बतादें कि गत 8 जनवरी को जुल्हेड़ा रोड स्थित चौकी वाली मस्जिद के इमाम इस्तियाक अली पुत्र मंजूरा ने सीओ सरधना के यहाँ प्रार्थना पत्र देते हुए बताया था कि मस्जिद की पूरब दिशा की दीवार को भूमाफिया इरफान पुत्र अल्ताफ शमीम पुत्र अज्ञात तथा उनके साथियों ने रात्रि में हो रही बरसात का फायदा उठाते हुए कैंटर की टक्कर मारक गिरा दिया है। बताया गया था कि उक्त आरोपी दीवार को पहले भी गिरा चुके हैं और मस्जिद की जमीन पर अवैध कब्जा करने का प्रयास कर चुके हैं। इस संबंध में पहले भी कई बार विवाद हो चुका है और उक्त आरोपी फर्जी रिपोर्ट दर्ज करा कर मामले को दबाव बनाने का प्रयास करता रहता है। उक्त आरोपी पहले भी उसे कई बार जान से मारने की धमकी दे चुके है। इस्तियाक ने बताया था कि उक्त आरोपियों द्धारा दीवार गिराए जाने के तुरंत बाद इस संबंध में रात्रि में ही पुलिस को सूचना दे दी गई थी। पुलिस मौके पर पहुंची थी पुलिस ने गिराई गई दीवार को पुनः बनवाए जाने का आश्वासन भी दिया था। इस्तियाक ने उक्त आरोपियों के खिलाफ कार्रवाई की मांग की थी । 
उधर समीम पुत्र सलीम निवासी सिंघावली की तरफ से भी थाने में एक तहरीर दी गई थी जिसमें इस्तियाक पुत्र मंजूरा निवासी गांव जसड़ सहित आधा दर्जन लोगों को नामजद करते हुए बताया गया कि उक्त लोगों ने दीवार को गिराया है जबकि उसके पास जमीन का बैनामा है। पहले विवाद होने पर मामला कोर्ट में विचाराधीन है। गांव सिंघावली निवासी शमीम पुत्र सलीम ने थाने में तहरीर देते हुए बताया कि उसने बिनोली चौराहा पर जुल्हेड़ा रोड स्थित एक आवासीय प्लॉट लेकर उसकी चारदीवारी करा रखी है । रात्रि में हाफिज इस्तियाक पुत्र मंजूरा निवासी ग्राम जसड सुल्तान नगर लियाकत पुत्र अमीर अहमद रहीम शाह पुत्र नजरु आशु मनिहार पुत्र वली मोहम्मद बबलू उर्फ अरशद पुत्र सऊद खां निवासी गण मोहल्ला मंडी चमारान सलीम जूस वाला पुत्र रफीक व वसीम पुत्र इस्लामुद्दीन निवासी गण मोहल्ला बूढ़ा बाबू ने उसके प्लाट की दीवार को गिरा दिया सुबह आकर उसने ऐसा करने की वजह पूछी तो उक्त आरोपियों ने कहा कि हम तुम्हारे प्लाट पर कब्जा करके रहेंगे रात थोड़ी सी कसर रह गई थी वरना कब्जा तो रात ही हो गया था इतनी बात कहते हुए उसके साथ गंदी गंदी गालियां देकर मारपीट की गई फौजदारी पर आमादा हो गए तथा जान से मारने की नियत से उस पर गोली चला दी जिसके बाद उसने वहां से भागकर अपनी जान बचाई उक्त प्लाट के बाबत माननीय न्यायालय सिविल सीडी मेरठ के यहां मुकदमा कर उक्त प्लाट पर स्टे ले रखा है फिर भी उक्त लोग कोर्ट का आदेश ना मानकर उसके प्लाट को पर अवैध कब्जा करना चाहते हैं। पुलिस ने शमीम पुत्र सलीम निवासी ग्राम सिंघावली थाना कंकरखेड़ा की तहरीर पर उक्त आरोपियों के खिलाफ धारा 147,427, 323, 307, 506, जैसी गंभीर धाराओं के तहत मुकदमा पंजीकृत कर लिया था। मुकदमा कायम होने की सूचना पर उक्त आरोपियों में हड़कंप मच गया था । उसी के चलते एक प्रतिनिधि मंडल एसपी देहात से मिला जिसमे भूमि का मालिकाना हक़ रखने वाले परिवार से आगा ऐनुद्दीन शाह आगा मोहम्मद अली शाह आगा ऐमी शाह भी साथ रहे और मामले की निष्पक्ष जाँच कराकर कार्रवाई की मांग की ।,,, 

अहमद हुसैन
True story