ALL स्वास्थ्य मुज़फ्फरनगर शामली राज्य नेशनल अपराध सरधना आर्थिक जगत BULANDSHAHAR
कन्या भ्रूण हत्या के प्रति लोगों को किया जागरुक
December 11, 2019 • TRUE स्टोरी टीम


मुजफ्फरनगर। 
महिला कल्याण विभाग के महिला शक्ति केंद्र के तत्वाधान में बेटी-बचाओं, बेटी पढ़ाओं के अंतर्गत कन्या भ्रूण हत्याओं पर रोक एवं महिलों को सम्मान के साथ रहने, बाल अधिकारों की सुरक्षा हेतू शपथ ग्रहण एवं हस्ताक्षर अभियान का आयोजन किया गया। जिसका शुभारंभ जिला अधिकारी कार्यालय पर जिलाधिकारी सेल्वा कुमारी जे ने किया। इस दौरान जिलाधिकारी ने कार्यक्रम में मौजूद लोगों को संबोधित करते हुए अपने विचार सांझा किए। और समाज में कन्या भ्रूण हत्या जैसे जघन्य अपराधो पर रोक लगाने की बात कही। उन्होंने कहा कि कन्या भ्रूण हत्या समाज के लिए एक कंलक है जो समाज में स्त्री पुरुषों के अनुपात में तो फर्क लाता ही है साथ ही मानसिकता में गिरावट स्तर बढ जाता है। जिसे रोका जाना बेहद जुरुरी है। 
जिलाधिकारी सेल्वा कुमारी जे ने कहा कि कन्या हत्या बहुत ही निंदनीय कृत्य है। बेटियों को शिक्षा के प्रति सजगता जरुररी है। शिक्षित नारी अपने पिता व पति दोनों परिवारों की उन्नति में सहायक होती है। बेटा एक कुल को आगे बढ़ाता है जबकि बेटी दो कुलों को आगे बढ़ाती है इसलिए बेटी को साक्षर बनाना समाज की पहली प्राथमिकता होनी चाहिए। हस्ताक्षर अभियान के शुबारंभ के पूर्व कन्या भ्रूण व महिलाय बाल अधिकारों की सुरक्षा के प्रति सभी को शपथ दिलाई गई। 
मुख्य चिकित्साधिकारी पीएस मिश्रा ने कहा कि कन्या भ्रूण हत्या एक सामाजिक बुराई है। जिसका खात्मा होना चाहिए। नारी के बिना समाज की कल्पना नही की जा सकती, बेटी के बिना परिवार अधूरा है इसलिए बेटी को पढ़ाई की और ध्यान देना बेहद आवश्यक है। ताकि वे साक्षर और आत्मनिर्भर हो। उन्होंने कहा कि बेटियों के भविष्य को ध्यान में रखते हुए सरकार ने बेटी बचाओं, बेटी पढ़ाओं योजना चलाई है। जिसका लाभ लेकर उनके भविष्य को सुरक्षित किया जा सकता है। इससे बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ योजना से भ्रूण हत्या कम होगी, लड़कियों का जीवन स्तर सुधरेगा, लड़कियों को कोई भी नहीं मारेगा, लड़कियां आत्मनिर्भर बनेगी, इससे लड़कियों को वित्तीय सहायता मिलती है, लड़के और लडकियों के बिच का भेदभाव कम होने लगेगा। जिसके अंतर्गत आपको अपनी बेटी के लिए बैंक में जा एक अकाउंट ओपन करना होगा। बच्ची के जन्म से लेकर 14 वर्ष तक जमा करवाएंगे, इसके पश्चात आप 18 वर्ष होने पर भी शिक्षा के लिए वह रकम निकलवा सकते हैं|तथा 21 वर्ष पूरे हो जाने पर यह योजना बंद हो जाएगी और आपको पूरी रकम दी जाएगी|
इस दौरान कार्यक्रम में जिलाधिकारी सेल्वा कुमारी, मुख्य चिकित्साधिकारी पीएस मिश्रा, सीडीओ आलोक यादव, सिटी मजिस्ट्रेट अतुल कुमार, एसडीएम कुलदीप मीणा, ए एस पी दीक्षा श्रर्मा, महिला कल्या अधिकारी शिवांगी बालियान, रेनू सिंह जिला समंव्यक महिला कल्या विभाग, पुलिस व प्रशासनिक अधिकारी, स्कूली छात्राएं समते गणमान्य लोग उपस्थित रहे।