ALL स्वास्थ्य मुज़फ्फरनगर शामली राज्य नेशनल अपराध सरधना आर्थिक जगत BULANDSHAHAR
करप्शन के खिलाफ जंग में विजय को मिला पी एम की पत्नी का साथ
November 7, 2019 • TRUE स्टोरी टीम

मुजफ्फरनगर। यहाँ पहुंची पी एम मोदी की पत्नी जशोदा बेन पटेल ने पिछले 24 साल से भ्रष्टाचार में भूमाफिया के विरुद्ध धरने पर बैठे मास्टर विजय सिंह के आंदोलन को सराहा। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी की पत्नी जशोदाबेन ने उनकी भ्रष्टाचार विरोधी लड़ाई को लेकर उन्हें सम्मानित किया।
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी  की पत्नी जशोदाबेन धार्मिक यात्रा पर हरिद्वार शुक्रताल धार्मिक नगरी से होती हुई मुजफ्फरनगर शहर पहुंची। देर रात्रि उनका मुजफ्फरनगर शहर में भी एक धार्मिक प्रोग्राम में सम्मिलित हुई। जहां उनका भव्य स्वागत किया गया, उन्होंने मुजफ्फरनगर के सामाजिक लोगों के कार्य के बारे में शुक्रताल के संतों से जानकारी ली। उन्हें मास्टर विजय सिंह के भ्रष्टाचार विरोधी 24 साल के गांधीवादी आंदोलन-धरने के बारे में बताया गया तो उन्होंने मास्टर विजय सिंह से मिलने की इच्छा जताई । जिसके बाद मास्टर जी को शिव चौक धरना स्थल से प्रोग्राम में बुलवा कर उनके भ्रष्टाचार विरोधी आंदोलन की प्रशंसा कर उन्हें सम्मानित किया। उन्होंने कहा कि भ्रष्टाचार देश में बहुत बुरी बीमारी है जिसे मूल रूप से खत्म किया जाना अति आवश्यक है। मास्टर विजय सिंह 24 साल से अहिंसात्मक ढंग से लड़ रहे हैं यह बड़ी बात है यह सम्मान योग्य है ।
गौरतलब है मास्टर विजय सिंह भ्रष्टाचार में भू माफियाओं के खिलाफ 24 साल से अहिंसात्मक ढंग से आंदोलन चला रहे हैं गत दिनों जिलाधिकारी मुजफ्फरनगर ने उनका धरना कचहरी से पुलिस बल बुलवाकर जबरदस्ती हटवा दिया था तथा उनके ऊपर अंडरवियर सुखाने का को लेकर धारा 509 महिला लज्जा भंग का मुकदमा भी कायम कराया था। जिसके बाद मास्टर विजय सिंह शिव चौक पर पर धरने पर बैठ गए थे ,उनका धरना शिव चौक पर ही चल रहा है। जिलाधिकारी की कार्रवाई को केंद्रीय मंत्री डॉक्टर संजीव बालियान, मंत्री कपिल अग्रवाल, भाकियू नेता राकेश टिकैत तथा सभी राजनीतिक दलों ने वह सामाजिक संगठनों ने गलत बताकर उनके रवैए की आलोचना की थी तथा उनके ऊपर लगे मुकदमे को भी निरस्त कराया था  ।  यहां मास्टर विजय सिंह की मांग है उनकी गांव की 4 हजार बीघे तथा दोनों जिलों मुजफ्फरनगर शामली की 6 लाख बीघा जमीन को अवैध कब्जे से मुक्त करा कर सार्वजनिक प्रयोग में लाने या गरीबों में बांटा जाए। कई सौ बीघे भूमि उनके आंदोलन के कारण मुक्त भी हुई है तथा विभिन्न जांचों में सार्वजनिक जमीन पर अवैध कब्जे साबित भी हो चुके हैं ।मास्टर विजय सिंह का धरना दुनिया का सबसे लंबा धरना बन चुका है जिसे लिम्का बुक एशिया बुक वर्ल्ड रिकॉर्ड इंडिया अन्य रिकॉर्ड बुक भी अपने यहां शामिल किया है ।