ALL स्वास्थ्य मुज़फ्फरनगर शामली राज्य नेशनल अपराध सरधना आर्थिक जगत BULANDSHAHAR
खाकी में जिंदा है इंसानियत
October 24, 2019 • TRUE स्टोरी टीम

मंसूरपुर-थाना मंसूरपुर के सिपाहियों ने दिया मानवता का परिचय।हुआ यूं कि पुरबालियान से अपनी ड्यूटी समाप्त कर वापस सोहजनी चौकी जा रहे कांस्टेबल लॉरेंस व कांस्टेबल मनोज कुमार को पुरबालियान के समीप ही सड़क पर पड़ा हुआ एक लेडीस पर्स मिला।कांस्टेबलों ने बाइक रोककर वह पर्स उठा लिया।पर्स की तलाशी लेने पर उसमें 2400 रुपये,एक सैमसंग कंपनी का मोबाइल व कुछ अन्य सामान भी मिला।पर्स के सड़क पर गिर जाने से मोबाइल की डिस्प्ले खराब हो गई थी।उन्होंने मोबाइल से सिम निकाला तथा दूसरे मोबाइल में सिम डाल कर बात की तो पता चला कि वह पर्स शहनाज पत्नी खालिद निवासी पुरबालियान का था।कांस्टेबलों ने कॉल कर उन्हें चौकी पर बुलाया और उनका पर्स सभी सामान सहित लौटा दिया।शहनाज व उसके देवर शाजिद ने बार-बार तीनों कांस्टेबलों का धन्यवाद किया और कहा कि अभी भी इंसानियत इस दुनिया में जिंदा है।