ALL स्वास्थ्य मुज़फ्फरनगर शामली राज्य नेशनल अपराध सरधना आर्थिक जगत
मानदेय की मांग रहे कर्मचारियों को E O ने हड़काया
March 2, 2020 • TRUE स्टोरी टीम • सरधना

 

अहमद हुसैन


 पिछले 5 माह से मानदेय नहीं मिलने से नगर पंचायत हर्रा के कर्मचारियों के सामने रोजी रोटी के भी लाले पड़ गए हैं ।इसे लेकर न तो नगर के अधिशासी अधिकारी गंभीर है और ना ही ठेकेदार ।जिसके चलते सोमवार को परेशान नगर पंचायत के कर्मचारियों ने मानदेय नहीं मिलने पर विरोध जताते हुए नगर पंचायत कार्यालय में धरने पर बैठ गए और नारेबाजी की।हालांकि इस दौरान सूचना पर पहुंची अधिशासी अधिकारी ने कर्मचारियों को दबंगई  दिखाते हुए हड़काया और उन्हें अपना कर्मचारी नहीं बताते हुए नगर पंचायत कार्यालय से बाहर खदेड़ दिया इसे लेकर हंगामे की स्थिति खड़ी हो गई और सूचना पर नगर पंचायत अध्यक्ष पति पहुंचे जिन्होंने इस बात का विरोध किया तो अधिशासी अधिकारी ने दबंगई और नक्शा दिखाते हुए उनसे भी सीधे उलझ गई इसे लेकर दोनों के बीच काफी देर तकनोक झोंक होती रही इस दौरान अधिशासी अधिकारी ने अपना तबादला करवाने की चेतावनी देते हुए मानदेय देने से इंकार कर दिया वहीं दूसरी ओर नगर पंचायत अध्यक्षा के पति व कर्मचारी अधिशासी अधिकारी की तानाशाही के चलते उसे हटाने की मांग पर अड़ गए हैं। गौरतलब है कि नगर पंचायत हर्रा में अरसे से अधिशासी अधिकारी पवित्रा त्रिपाठी के पद पर तैनात हैं और वह दबंगईऔर हनक के बूते पर नौकरी करने के लिए दबंग मानी जाती रही हैं यहां बताया गया है कि नगर पंचायत में अबरार, फजलुर रहमान, समीर, अरशद, दीपक, साजिद, आसिफ, आदि नगर पंचायत कार्यालय से संबंध है और यही ड्यूटी करते हैं इसे लेकर इन कर्मचारियों ने सोमवार को बताया कि पिछले 5 माह से उन्हें कोई मानदेय नहीं मिला है जिसे लेकर उनके घरों पर रोजी रोटी के भी लाले पड़े हुए हैं इसे इस संबंध में पीड़ित कर्मचारियों का कहना है कि जब वे अधिशासी अधिकारी से वेतन की बात  करते हैं तो  कह दियाजाता है कि वह उनके अंडर में नहीं है वह ठेके पर काम कर रहे हैं इससे उनका कोई लेना-देना नहीं है वहीं दूसरी ओर जब इस बाबत ठेकेदार अशोक ढाका से बात की जाती है वह कहते हैं कि नगर पंचायत के अधिशासी अधिकारी उन्हें इस काम की पेमेंट जारी नहीं कर रही है जिसके चलते मानदेय देने में असमर्थ हैं दोनों के चलते हुए कर्मचारी 5 महीने इंतज़ार कर रहे हैं।अब कर्मचारियों के सामने भूखे मरने तक की नौबत आ गई है इसी समस्या को लेकर सोमवार की सुबह सभी कर्मचारी एकत्रित होकर नगर पंचायत कार्यालय में धरने पर बैठ गए और धरना देते हुए अधिशासी अधिकारी और ठेकेदार के खिलाफ जमकर नारेबाजी की कर्मचारियों का आरोप है कि अधिशासी अधिकारी तानाशाही दिखाती है और उनकी एक नहीं सुनती ठेकेदार पर लापरवाही का आरोप लगाया गया सूचना पर अधिशासी अधिकारी पवित्रा त्रिपाठी मौके पर पहुंची जहां उन्होंने कर्मचारियों को अपना कर्मचारी न बताते हुए जमकर हटाया और धमकाते हुए नगर पंचायत कार्यालय के बाहर खदेड़ दिया इस बात की सूचना जैसे ही नगर पंचायत अध्यक्ष गुलजार चौधरी को पति को लगी तो वे भी मौके पर पहुंचे और उन्होंने कर्मचारियों को मानदेय दिलाने के लिए अधिशासी अधिकारी से कहा इसे लेकर अधिशासी अधिकारी भड़क गई और धमकी देते हुए उन्होंने दो टूक कह दिया कि उनके कर्मचारी नहीं है इस बारे में मानदेय  नहीं देंगी अधिशासी अधिकारी ने नगर पंचायत अध्यक्षा पति को साफ शब्दों में कह दिया कि उनका तबादला करा दे लेकिन झुकेंगे नहीं नगर पंचायत अध्यक्ष पति गुलजार इस पूरे मामले को लेकर अधिकारी से जमकर विरोध जताया और उन्हें गैर जिम्मेदाराना जवाब देने के लिए आरोप लगाया इस पूरे मामले को नगर पंचायत अध्यक्ष पति और कर्मचारी नगर पंचायत से खदेड़ने के बाद बाहर चले आए इस संबंध में पीड़ित कर्मचारियों ने मामले की शिकायत करते हुए अधिशासी अधिकारी का तबादला करने की मांग उठाई है कर्मचारियों का कहना है कि जब तक नगर पंचायत अधिकारी का दबाव काम पर नहीं लौटेंगे दूसरी ओर कर्मचारियों के कार्यालय खदेड़ने के बाद स्थिति बिगड़ गई और नगर पंचायत कारण पूरे दिनलावारिस हालत मे पडा रहा।
-------
अहमद हुसैन
True स्टोरी