ALL स्वास्थ्य मुज़फ्फरनगर शामली राज्य नेशनल अपराध सरधना आर्थिक जगत BULANDSHAHAR
मेडिकल कालेज में टीम इलेवन संवारेगी व्यवस्था 11 कमांडो की टीम,रखेगी व्यवस्था पर नजर
May 15, 2020 • TRUE स्टोरी टीम • स्वास्थ्य

 संजय वर्मा
मेरठ। लाला लाजपत राय मेडिकल कालेज की सूरत बदलने की तैयारी हो चुकी है। कोरोना अस्पताल की जिम्मेदारी संभाल रहे आफिसर ऑन स्पेशल ड्यूटी (ओएसडी) डा. वेदप्रकाश ने 11 कमांडो की टीम (टीम इलेवन) तैयार की है। इन कमांडो को अलग-अलग विभाग की जिम्मेदारी सौंपी गयी है। इनकी जिम्मेदारी मरीजों के खाने से लेकर काउसंलिंग और वार्ड की व्यवस्था दुरूस्त रखने की होगी। नयी व्यवस्था के तहत कोरोना वार्ड के कोरोना संक्रमित एक-एक मरीज का पूरा ख्याल रखा जाएगा। वार्ड में मौजूद एक-एक मरीज का रिकार्ड ट्रेस किया जाएगा।
 मेडिकल कालेज के कोरोना वार्ड में मौजूद मरीजों की मनोदशा को ठीक रखने के लिये कोरोना वार्ड में कलर थैरेपी का भी प्रयोग किया जाएगा। इसके लिये सात दिन सात कलर, सात चादर का फार्मूला प्रयोग किया जाएगा। हर दिन अलग रंग की चादर मरीजों के बेड पर बिछाई जाएंगी। इसमें पीले, बादामी, नारंगी, लाल, हरे, सफेद रंग की बेडशीट अलग-अलग दिन बिछाई जाएगी। टीम इलेवन के कमांडो अपनी-अपनी जिम्मेदारी, क्षेत्र का अलग-अलग वाट्सएप ग्रुप भी बनाएंगे। इसमें मेरठ के कोरोना के नोडल अधिकारी, कमिश्नर, जिला अधिकारी, ओएसडी, प्रिंसीपल, वाइस प्रिंसीपल, मुख्य चिकित्सा अधिकारी, मुख्य चिकित्सा अधीक्षक को जोड़ना अनिवार्य होगा। हर कमांडो रोजाना किये गये काम की फोटो, विडियो, डाक्यूमेंट हर दिन पोस्ट करेंगे। मरीज को दिये जाने वाले भोजन की गुणवत्ता में भी सुधार किया जा रहा है। इसमें अधिक से अधिक हरी सब्जियां ,इम्यूनिटी बढ़ाने वाली चीजों, फल आदि को शामिल किया गया है। इसके अतिरिक्त मरीजों को काढ़ा भी दिया जाएगा।
  इन व्यवस्था पर रखेंगे नजर
  टीम इलेवन के कमांडो खाने और बनवाने की व्यवस्था, समय से खाना वितरण, मरीजों की चांदरों को बदलवाने, दवा वितरण, सीनियर व जूनियर डाक्टर्स  का वार्ड का दौरा सुनिश्चित करना, कंट्रोल रूम को जानकारी देना, मरीजों का फीड बैक,  ईसीसीएस नेटवर्क व टेलिमेडिशन,योगा, मेडिटेशन, कांउसलिंग आदि पर नजर रखेंगे।
 
 
  कोरोना वार्ड में टीम इलेवन के तहत कोरोना कमांडो तैनात किये गये हैं। सभी की जिम्मेदारी तय कर दी गयी है। कैपेसिटी बिल्डिंग के तहत ट्रेनिंग दी जा रही है। स्टाफ और मरीज दोनों का मनोबल बढ़ाने का प्रयास उनकी ओर से किया जा रहा है।
   डा. वेदप्रकाश -ओएसडी एलएलआरएम कालेज मेरठ