ALL स्वास्थ्य मुज़फ्फरनगर शामली राज्य नेशनल अपराध सरधना आर्थिक जगत BULANDSHAHAR
मिशन इंद्रधनुष टीकाकरण अभियान दो  दिसम्बर से     -    जिले के 7 ब्लॉक में चार चरणों में चलाया जाएगा अभियान - सर्वे में 1498 गर्भवती महिलाएं व 7529 बच्चे ऐसे मिले जिनको  नहीं लगे हैं सभी टीके
November 26, 2019 • TRUE स्टोरी टीम


 मेरठ, संजय वर्मा। टीकाकरण से छूटे बच्चों व गर्भवती महिलाओं के लिये चार चरणों में चलने वाला अभियान मिशन इन्द्र धनुष का आगाज जनपद में 2 दिसम्बर से हो रहा है। यह अभियान अगले साल 2 मार्च तक चलेगा। इस अभियान में ऐसे छूटे बच्चों का टीकाकरण किया जाएगा, जिन्होंने अब तक कोई भी टीका नहीं लगवाया  अथवा जिनका संपूर्ण टीकाकरण नहीं हुआ है।
 मुख्य चिकित्सा अधिकारी डा. राजकुमार व जिला प्रतिरक्षण अधिकारी ने बताया विभाग द्वारा टीकाकरण के लिए किये गये सर्वे में 1498 गर्भवती महिलाएं और 7529 बच्चे ऐसे चिन्हित हुए हैं, जिन्होंने सभी टीके नहीं लगवाए हैं । मिशन इन्द्र धनुष के तहत इन सभी को टीके लगाए जाएंगे। अभियान के तहत डीपीटी, पोलियो, बीसीजी, पेंटा, एमआर (मीजल्स-रूबेला), रोटा वायरस और टीडी (टिटनेस-डिप्थीरिया) के टीके लगाए जाएंगे।
 मुख्य चिकित्सा अधिकारी ने बताया- जिले में दौराला,जानीखुर्द, माछरा, परीक्षितगढ़, रजपुराभावनपुर हसनपुर सीएचसी व मेरठ के 24 शहरी प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्रों पर मिशन इन्द्रधनुष अभियान चलाया जाएगा। अभियान चार चरणों में चलाया जाएगा। पहला चरण 2 दिसम्बर, दूसरा 6 जनवरी सन् 2020, तीसरा 3 फरवरी व चौथा चरण 2  मार्च से शुरू होगा। अभियान को सफल बनाने के लिये शहरी व ग्रामीण क्षेत्र की आशा कार्यकर्ताओं की मदद ली जा रही है। उन्होंने बताया वर्तमान में जिले की जनसंख्या 39 लाख है, जिसमें शहरी क्षेत्र में 20 लाख व ग्रामीण क्षेत्र में 19 लाख लोग रहते हैं। ग्रामीण क्षेत्र में 1664 व शहरी क्षेत्र में 588 आशा कार्यकर्ता हैं।
 जिला प्रतिरक्षण अधिकारी डा. प्रवीन गौतम ने बताया - इन्द्रधनुष अभियान में दो तरह के बच्चों को शामिल किया गया है। पहला लेफ्ट आउट- जिन बच्चों को एक भी टीका नहीं लगा है। दूसरा ड्राप  आउट - ऐसे बच्चे जिन्होंने एक दो टीके लगवाने के बाद बीच में अन्य टीके नहीं लगवाये ।