ALL स्वास्थ्य मुज़फ्फरनगर शामली राज्य नेशनल अपराध सरधना आर्थिक जगत BULANDSHAHAR
प्रमुख सचिव सिंचाई पहुंचे गंगा किनारे, किया दस करोड़ के प्रोजेक्ट का निरीक्षण
April 29, 2020 • TRUE स्टोरी टीम • राज्य

अनिल शर्मा
 मवाना। बुधवार को क्षेत्र में गंगा किनारे बसे गांव फतेहपुर प्रेम स्थित प्रदेश सरकार द्वारा लगभग 10 करोड रुपए के प्रोजेक्ट से तैयार होने वाले लगभग नौ सौ मीटर रेब्समेंट का प्रमुख सचिव सिंचाई विभाग सहित जिलाधिकारी मुख्य विकास अधिकारी उप जिलाधिकारी सहित सिचाई विभाग के तमाम आलाधिकारियों ने निरीक्षण किया और जल्द ही बरसात से पहले कार्य को पूर्ण करने के दिशा निर्देश दिए गए।
बरसात के दिनों में खादर क्षेत्र में बाढ़ से भारी तबाही को बचाने के लिए लगातार क्षेत्र के लोग प्रदेश सरकार से पक्के तटबंध मांग करते आ रहे हैं। खादर क्षेत्र में बाढ़ से प्रतिवर्ष होने वाले नुकसान को देखते हुए प्रदेश सरकार ने फतेहपुर प्रेम गांव के समीप लगभग 900 मीटर (रेब्समेंट) पत्थर और बालू के कट्टों से तैयार होने वाली ठोकर की अनुमति दी है जिसका लगभग खर्च दस करोड़ रुपए आंका गया है। इसी के निरीक्षण के लिए बुधवार को प्रदेश सरकार के प्रमुख सचिव सिंचाई टी वेंकटेश, जिलाधिकारी अनिल ढींगरा, मुख्य विकास अधिकारी ईशा दुहन, उप जिलाधिकारी ऋषि राज, तहसीलदार अजय कुमार उपाध्याय, एसपी देहात अविनाश पांडे, सी ओ यू एन मिश्र, सहित क्षेत्रीय विधायक दिनेश खटीक सहित तमाम प्रशासनिक अमला तटबंध के निरीक्षण के लिए पहुंच गया जहां पर सिचाई विभाग द्वारा पत्थर लगा कर ठोकर लगाने का कार्य शुरू करने के प्रमुख सचिव सिंचाई टी वेंकटेश ने निर्देश दिए साथ ही कहा कि सोशल डिस्टेंसिंग का विशेष ध्यान रखा जाए और किसी भी प्रकार की लेबर को काम करने में यहां कोई परेशानी ना होने पाए इसके लिए जिलाधिकारी अनिल ढींगरा से लेबर को सैनिटाइज और सुरक्षा किट प्रदान करने की बात कही। उसके बाद उन्होंने कहा कि जिले का कोरोना नोडल अधिकारी होने के नाते वह जिले में स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों व और प्रशासनिक अधिकारियों के साथ लगातार हॉटस्पॉट क्षेत्रों का निरीक्षण कर रहे हैं वही कोरोना वायरस से निपटने के लिए कार्य योजना तैयार की गई है जिसके तहत जिले की कार्यप्रणाली को सुदृढ़ बनाया जा रहा है सभी प्रशासनिक अधिकारियों का पूर्ण सहयोग मिल रहा है अतः उन्होंने कहा कि खादर क्षेत्र में वार्ड के नुकसान को इस 900 मीटर के पक्के पत्थर और बालू के कट्टे से बनाए जाने वाले रेब्समेंट काफी हद तक नुकसान को रोका जा सकेगा इस रेब्समेंट को नीचे पत्थर और ऊपर बालू सीमेंट के कट्टों से भर कर तैयार किया जाएगा जिससे पानी किनारों को कटान नहीं कर सकेगा और फतेहपुर प्रेम सहित आसपास के गांव बाढ़ से सुरक्षित हो जाएंगे इस अवसर पर क्षेत्रीय विधायक दिनेश खटीक ने कहा कि उन्होंने खादर क्षेत्र को बाढ़ से मुक्त कराने के लिए लगभग तीन सालों से अथक प्रयास किया है और आगे भी जारी रहेगा उनके अथक प्रयासों के बाद प्रदेश सरकार ने यह 10 करोड़ की लागत से बनने वाले पत्थर की ठोकर से क्षेत्र के लोग सुरक्षित होंगे और उनका गंगा के तटबंध को और आगे तक पक्का कराने का प्रयास जारी है। इस अवसर पर सिंचाई विभाग के मुख्य अभियंता त्रिलोक चंद शर्मा, अधीक्षण अभियंता विनोद कुमार मिश्र, अधिशासी अभियंता द्रोण कुमार, अधिशासी अभियंता आशुतोष सारस्वत, एसडीओ पी के जैन आदि मौजूद रहे।
सिंचाई विभाग के एसडीओ पीके जैन ने बताया कि लगभग 900 मीटर लंबाई और 10 मीटर चौड़ाई से तैयार होने वाले रेवेटमेंट में गंगा के किनारे प्रकृति के अनुसार ही प्रदूषण को ध्यान में केंद्रित रखते हुए भालू और पत्थर से ही इस रेवेटमेंट को तैयार किया जाएगा जिससे गंगा किनारे किसी भी प्रकार की हानि नहीं होगी।
**************