ALL स्वास्थ्य मुज़फ्फरनगर शामली राज्य नेशनल अपराध सरधना आर्थिक जगत BULANDSHAHAR
पुलिस से डरकर युवक छत से कूदा गंभीर रूप से घायल 
May 9, 2020 • TRUE स्टोरी टीम • मुज़फ्फरनगर

 

चिकित्सक ने गंभीर हालत में मेरठ रैफर किया।

परिजनों ने  पुलिस पर युवक की पिटाई करने का आरोप लगाया।


नईम चौधरी
मीरापुर।। घर मे आयी पुलिस को देखकर युवक छत की दूसरी मंजिल से नीचे कूद गया,नीचे गिरने से युवक गंभीररूप से घायल हो गया।घायल युवक को देखकर पुलिस मौके से वापिस लौट आई।गंभीर हालत में युवक को चिकित्सक ने मेरठ रैफर कर दिया।परिजनों ने पुलिस पर युवक की पिटाई करने का आरोप लगाया है।
    मीरापुर थानाक्षेत्र के ग्राम सम्भालेहड़ा निवासी आरिफ व शाहिद पुत्रगण नसरू मीरापुर की थावर वाली मस्जिद के समीप मुर्गे की दुकान करते है।और अब परिवार के साथ ही मीरापुर में रहते है।बताया गया है कि  शुक्रवार की सुबह उक्त दोनों अपने घर की ऊपरी मंजिल पर परिवार के साथ बैठे हुए थे।आरोप है कि इस दौरान सफेद रंग की बोलेरो कार में मीरापुर पुलिस शाहिद के घर पहुँची और उसे पकड़ने का प्रयास करने लगी।आरोप है कि इस दौरान एक पुलिसकर्मी ने शाहिद को डंडा मार दिया।जिससे इस दौरान पुलिस की पिटाई से डरकर युवक शाहिद घर की दूसरी मंजिल से नीचे कूद गया।दूसरी मंजिल से नीचे गिरने से शाहिद गंभीर रूप से घायल हो गया।और उसके हाथ पैर टूट गये व लहूलुहान होकर बेहोश हो गया।युवक को लहूलुहान हालत में घायल देखकर पुलिस मौके से वापिस आ गयी।परिजन उसे तुरन्त एक चिकित्सक के यहाँ उपचार के लिए ले गए।जहाँ से चिकित्सक ने उसकी गंभीर हालत को देखते हुए उसे मेरठ रेफर कर दिया।जहाँ उसकी हालत चिंताजनक बनी हुई है।परिजनों ने पुलिस पर युवक की पिटाई करने का आरोप लगाया है।घायल युवक के परिजनों में पुलिस के प्रति रोष व्याप्त है।*मामले पर मीरापुर इंस्पेक्टर एच एन सिंह का कहना है कि पुलिस को अवैध कटान की सूचना मिली थी जिस पर पुलिस मौके पर गयी पुलिस को मौके से अवैध पशु कटान के लिए प्रयोग किये जाने वाले चाकू,छूरी व अन्य औजार मिले है।जिसके बाद उक्त शाहिद व अन्य के खिलाफ अवेध कटान का मुकदमा दर्ज किया जा रहा है।पुलिस पर दबाव बनाने के लिए उक्त युवक झूठी कहानी रच रहे है।


जेल भेजने की धमकी देकर एक दिन पूर्व भी 25000 रुपये ले जाने का आरोप।
मीरापुर-मीरापुर की थावर वाली मस्जिद के समीप पुलिस को देखकर डरकर छत से कूदकर घायल हुए युवक शाहिद के परिजनों ने पुलिस पर उत्पीडन का आरोप लगाया है।घायल के भाई आरिफ ने आरोप लगाया कि लॉक डाउन में काम बंद होने के बावजूद पिछले कई दिनों से पुलिस उन्हें मुर्गे बेचने के आरोप में जेल भेजने की धमकी दे रही थी।जबकि उनकी दुकान पूर्णतः बन्द है।आरिफ ने आरोप लगाया कि एक दिन पूर्व भी गुरुवार को पुलिस उन्हें झूठे आरोप में जेल भेजने की धमकी देते हुए उनसे 25000 रुपये ले गयी थी।