ALL स्वास्थ्य मुज़फ्फरनगर शामली राज्य नेशनल अपराध सरधना आर्थिक जगत BULANDSHAHAR
रिटायरमेंट के बाद असम में  जेड प्लस सुरक्षा के घेरे में रहेंगे रंजन गोगोई, 4 अन्य जजो को भी मिला सुरक्षा का घेरा
November 16, 2019 • TRUE स्टोरी टीम

 

सुप्रीम कोर्ट के चीफ जस्टिस रंजन गोगोई को असम में जेड प्लस सुरक्षा दी जाएगी जहां वह 17 नवंबर को रिटायरमेंट के बाद रहेंगे.पिछले हफ्ते अयोध्या मामले में महत्वपूर्ण फैसला सुनाए जाने से पहले सीजेआई रंजन गोगोई और चार अन्य जजों की सुरक्षा बढ़ाई गई.डिब्रूगढ़ स्थित गोगोई के पैतृक आवास और गुवाहाटी में एक दूसरे घर की सुरक्षा बढ़ाई जा रही है, 17 नवंबर को गोगोई होंगे रिटायर .बता दें कि पिछले हफ्ते अयोध्या मामले में फैसला सुनाए जाने से पहले रंजन गोगोई और चार अन्य जजों की सुरक्षा बढ़ाई गई थी। असम पुलिस को गोगोई के डिब्रूगढ़ स्थित पैतृक आवास और गुवाहाटी में दूसरे घर की सुरक्षा के बंदोबस्त करने के आदेश दिए गए हैं।

असम पुलिस के वरिष्ठ अधिकारी ने नाम न जाहिर करने की शर्त पर बताया, 'हमें केंद्रीय गृह मंत्रालय से कहा गया है कि गोगोई की सुरक्षा बढ़ाकर जेड प्लस करनी है जो कि सर्वोच्च सुरक्षा कवर है। हम सुरक्षा के लिए जरूरी इंतजाम कर रहे हैं क्योंकि गोगोई रिटायरमेंट के बाद गुवाहाटी में रहने वाले हैं।'

पांच जजों की सुरक्षा बढ़ाई गई

गृह मंत्रालय के अधिकारियों ने कहा कि मंत्रालय किसी व्यक्तिगत की सुरक्षा पर कॉमेंट नहीं करना चाहेगा, हालांकि सूत्रों का कहना है कि गोगोई और चार अन्य जजों की सुरक्षा खतरे की आशंका को टालने के लिए बढ़ाई गई है। गोगोई को सर्वोच्च सुरक्षा दी गई है तो वहीं दूसरे जजों को अलग-अलग श्रेणी की सुरक्षा प्रदान की गई है।

अयोध्या विवाद पर दिया था फैसला
गुवाहाटी स्थित गोगोई के पुराने आवास को रेनोवेट किया जा रहा है। पिछले साल गोगोई के गुवाहाटी में कामाख्या मंदिर शक्तिपीठ में दौरे के दौरान सुरक्षा में लापरवाही के चलते डीसीपी भंवर लाल मीणा को निलंबित कर दिया गया था। गृह मंत्रालय के अधिकारी ने बताया कि इस बार सब कुछ ठीक हो यह सुनिश्चित किया जाएगा। बता दें कि 9 नवंबर को रंजन गोगोई और चार अन्य जजों की पीठ ने अयोध्या विवाद पर महत्वपूर्ण फैसला दिया था।