ALL स्वास्थ्य मुज़फ्फरनगर शामली राज्य नेशनल अपराध सरधना आर्थिक जगत BULANDSHAHAR
सभी किसान कर्मयोद्धाओं को हृदय से नमन
May 9, 2020 • TRUE स्टोरी टीम • स्वास्थ्य

सभी किसान कर्मयोद्धाओं को हृदय से नमन

कोविड 19 वैश्विक माहमारी के चलते आज जहां सभी देशवासियों को अन्न, सब्जियां,फल उपलब्ध हो रहे हैं वह आप लोगों की कठिन मेहनत का फल है। किसान पुत्र  होने की वजह से मैं इस बात से भी ‌भलीभांति अवगत हूं कि आपकी मेहनत को देखते हुए आपको आपकी फसलों के न तो उचित दाम मिल रहे हैं। ओलावृष्टि, भयंकर आंधी‌ तुफान के चलते गेहूं वह सरसों की फसल को काफी नुकसान पहुंचा है।लोकडाउन के जहां ज्यातर देशवासी अपनी सुरक्षा को लेकर सरकार द्वारा जारी निर्देशों का पालन करने के लिए अपने घरों में थे ऐसी विषम परिस्थितियों में भी अपनी जानजोखिम में डाल कर अपने खेतों में सरसों गेहूं की कटाई गन्ने छिलाई कर मिलो पर ले जाने साथ ही गन्ने बुवाई में व्यस्त रहे मजदूर भी उपलब्ध नहीं थे। ज्यादातर सब्जी व फल खराब मौसम व खरीदार न मिलने की वजह से खेतों में ही सड गये ।  किसानों को हुए नुकसान को देखते हुए उत्तम प्रदेश निर्माण संगठन मांग करता है कि भारत सरकार को किसानों को बदहाली से ‌उबारने के ‌1.5 लाख करोड़ रुपए के राहत पैकेज की घोषणा शीध्र करनी चाहिएआरम्भ हुए दिसम्बर 2019के मध्य चीन के बुहान शहर से आरम्भ हुए कोरोनावायरस के संक्रमण ने इटली , अमेरिका,स्पेन ब्रिटेन,फ्रांस , जर्मनी, जैसे साधन सम्पन्न देश को कोरोनावायरस से बचाव की कोई औषधि न होने की वजह से घुटने टेकने पर मजबूर कर दिया इन सभी देशों में से अकेले अमेरिका मे1270643 रोगी कोविड 19 से ग्रस्त हुए जिनमें213511रोगी ठीक हुए वहीं 75732रोगियों की मौत हो गई, दूसरे नंबर पर स्पेन, तीसरे पर इटली, चतुर्थ फ्रांस, पांचवें पर जर्मनी में रोगियों की संख्या कई लाख से अधिक व मोतें भी अधिक हुई भारत में रोगियों की संख्या52952 गई जिसमें से 1783रोगियों की मृत्यु हो गई,15267रोगी ठीक हुए।भारत में अधिक रोगियों का ठीक होना इस बात को दर्शाता है कि सात्त्विक भोजन की वजह से भारत के लोगों की रोग-प्रतिरोधक क्षमता दूसरे देशों के नागरिकों से बेहतर है। माननीय प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी जी के कुशल निर्देशन व राज्य सरकारों के सहयोग से भारत में समय पर लाकडाउन होने व जनता द्वारा पालन करने से जहां एक ओरआज भारत इस वैश्विक माहमारी से अपने आप को सुरक्षित ‌रख पाने में सफल रहा है लेकिन मैं यहां यह भी कहना चाहूंगा कि भारतीय अर्थव्यवस्था को पटरी पर लाने के लिए देर-सवेर लाकडाउन को हटाना पड़ेगा फिर प्रत्येक नागरिक की जिम्मेदारी ज्यादा बढ़ जाएगी इसके बाद भी हमें बिना आवश्यक कार्य के घर के बाहर नहीं निकलना है, घर से बाहर जाते समय मास्क अवश्य लगाना है , घर के बाहर आवश्यक वस्तुओं की खरीददारी करते समय, आफिस या अपने कार्यस्थल पर सोशल डिस्टैन्सिग का पालन करना है जिसकी आदत हमे हमेशा के लिए डालनी होगी और जनसामान्य को जागरूक करना होगा । भविष्य मेबड़ी बड़ी रैलियां आयोजित करने , शादी समारोह, धार्मिक समारोह में भी स्थल को सेनेटाइज करना होगा व सोशल डिस्टैन्सिग का पालन करना होगा।साठ साल से ऊपर के वरिष्ठ नागरिकों व छोटे बच्चों का विशेष ध्यान  रखना होगा।यदि हमने उपरोक्त सावधानियों का पालन किया तो केवल कोरोना ही नहीं भारत देश किसी भी बीमारी से लडने में सफल होगा। किसान भाइयों को पहले की तरह साझेदारी की ‌खेती प्रथा (कोआपरेटिव) को अपनाना लाभप्रद रहेगा। पूर्व की भांति ही मोसम की सब्जी जैसे गाजर,मूली,शल्जम,बैंगन, टमाटर,प्याज ,पोदीना, अजवायन,हराधनिया, चुकंदर,भिण्डी,सेम,लोकी,तोरी आदि आर्गेनिक विधी से पैदा करनी चाहिए जहां स्वस्थ रहने के साथ साथ आर्थिक लाभ भी होगा।आयुष मन्त्रालय की गाइड लाइन के अनुसार लाभकारी औषधियां जैसे गिलोय, तुलसी, एलोवेरा, अपने घर,घेर में जमीन अथवा गमलों में लगाएं।शरीर की रोग-प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाने के आयुर्वेद के सिद्धांत"स्वस्थस्य स्वास्थ्य रक्षणम आतुरस्य ‌विकार प्रशनम च:। अर्थात सवस्थ व्यक्ति के स्वास्थ्य की रक्षा करना एवं  रोगी व्यक्ति के रोग ‌की चिकित्सा करना आयुर्वेद के ये दो प्रमुख उद्देश्य हैं।
          शरीर की रोग-प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने के लिए निम्न काढे का सेवन करें-
1) गिलोय एक एक अंगुल के दो टुकड़े।
2) तुलसी सात पत्र।
3) एलोवेरा दो अंगुल के दो टुकड़े।
4)काली मिर्च पांच।
5) थोड़ी सी अजवाइन
6) चुटकी भर दालचीनी
        उपरोक्त सभी औषधियों में एक गिलास पानी में डालकर तब तक पकाएं जब तक पकते पकते पानी आधा रह जाए। इस काढ़े को थोड़ा ठंडा होने पर सुबह शाम पियें। पांच वर्ष से छोटे बच्चों को इस काढ़े की चोथाई मात्रा एक चम्मच शहद मिलाकर पिलाएं।शहद मिलाने से उसका तीखापन कम हो जाएगा जिसे बच्चे आसानी से पी लेंगे।
2-सुबह शाम एक गिलास गर्म दूध में एक चम्मच हल्दी डालकर पिएं।
         उपरोक्त औषधियों को प्रतिदिन प्रयोग करने से रोग प्रतिरोधक शक्ति बढ़ेगी और कई प्रकार की वायरल व बेक्टीरियल रोगों से छुटकारा मिलेगा।
           डाक्टर सतेन्द्र सिंह
            प्रदेश अध्यक्ष
       उत्तम प्रदेश निर्माण संगठन