ALL स्वास्थ्य मुज़फ्फरनगर शामली राज्य नेशनल अपराध सरधना आर्थिक जगत BULANDSHAHAR
संस्क्रति व तहजीब कायम रखनी है हिंदुस्तान की
November 5, 2019 • TRUE स्टोरी टीम

अयोध्या पर  आने वाले उसी सुप्रीम कोर्ट के निर्णय पर आज फिर रघुवीर  सदन में शांति समिति की बैठक हुई। बैठक में उपस्थित अधिकारियों ने हिंदु व मुस्लिम दोनों ही पक्षों से न्यायालय के निर्णय का स्वागत करने की अपील की गई। बैठक में वक्ताओं ने कहा कि अयोध्या विवाद से बड़ा मुकदमा आज तक नहीं चला। इस मामले में सुप्रीम कोर्ट का निर्णय किसी भी पक्ष के हक में आए सबको निर्णय मानना चाहिए। मगर फैसला आने पर कोई बदतमीजी न करें। सरधना के सभी समाज के लोग एक साथ रहने का काम करते चले आ रहे हैं, आगे भी मिलकर रहेंगे। नगर की संस्कृति व तहजीब कायम रहनी चाहिए।
   बैठक में उपस्थित एसडीएम अमित कुमार भारतीय ने कहा कि शांति समिति के सदस्यों के साथ बैठक गांव व समाज के हित के लिए आयोजित की गई है। सभी का स्वागत करते हुए कहा कि उच्चतम न्यायालय द्वारा अयोध्या पर आने वाले निर्णय को लेकर किसी भी तरह की कोई समस्या किसी गांव, मोहल्ले या समाज में न आने पाए। सीओ पंकज कुमार सिंह ने कहा कि सभी समुदाय के लोग प्रत्येक दशा में अमन व शांति बनाये रखेंगे। किसी प्रकार की अप्रिय घटना की सूचना पाये जाने पर तुरंत थानाध्यक्ष के अलावा वरिष्ठ अधिकारियों को भी दें। एसओ उपेंद्र कुमार मलिक ने कहा कि फैसले के संबंध में कोई भी व्यक्ति टिप्पणी नहीं करेगा। सोशल मीडिया पर फैसले से संबंधित या इस प्रकरण के संबंध में कोई प्रचार-प्रसार नहीं करेगा। प्रधान, सभासद व बीडीसी मुख्य शक्ति है वे गांव, मोहल्लों व नुक्कड़ के दुकानदार या निवासियों को भी अवगत करा दें कि यदि कोई ऐसा व्यक्ति इस संबंध में गलत टिप्पणी करता है या अफवाह फैलाता है तो उसकी सूचना तत्काल थाने को दें। पुलिस कंट्रोल रूम एसएसपी, डीएम के नंबर भी अपने पास सुरक्षित रखें ताकि कोई भी छोटी से छोटी घटना का निस्तारण हो सकें। थाना पुलिस संबंधित उप जिलाधिकारी व सीओ व क्षेत्र के संभ्रान्त व्यक्तियों से निरन्तर समन्वय रखें। 
 संयुक्त व्यापार मंडल के विधानसभा अध्यक्ष मंगू सिंह प्रधान ने कहा कि हम सभी को मा. उच्चतम न्यायालय पर पूरा भरोसा है। हमें अपने अमन में शांति का पैगाम देना है। आज भी मुल्क को किसी भी तरह से तन-मन-धन से जरूरत हो तो हम कुर्बान करने को तैयार हैं। हमारा नगर गंगा-यमुनी तहजीब की मिसाल है। उन्होने सर्वे भवन्तु सुखिन:, सर्वे सन्तु निरामया का उदाहरण देते हुए जनपद में निर्णय आने के बाद भी भाईचारा, मेल-मिलाप, सांप्रदायिक सौहार्द बनाये रखने पर जोर दिया। उन्होने कहा कि हर हिन्दुस्तानी को मुल्क की सबसे बड़ी अदालत पर पूरा भरोसा है। संयुक्त व्यापार मंडल के जिला उपाध्यक्ष पीयूष त्यागी ने कहा कि ने कहा कि इस मामले को हर व्यक्ति अपनी सोच को सकारात्मक रखें और युवाओं को भ्रामक प्रचार करने से रोका जाए। सुप्रीम कोर्ट का फैसला सबके लिए सर्वमान्य होना चाहिए। 
संचालन संजीव गुप्ता ने किया। बैठक में सूर्यदेव त्यागी, संजीव त्यागी, कन्हैया लाल त्यागी, दीपक सागर, अर्जुन विश्वकर्मा, रईस अहमद, समर कुरैशी  शावेज पियूष त्यागी सरदार सुखबीर सिंह अंसारी दीपक मित्तल, शहजाद सैफी, वीरेंद्र सैनी आदि प्रमुख रूप से शामिल रहे।
अहमद हुसैन 
ट्रू स्टोरी