ALL स्वास्थ्य मुज़फ्फरनगर शामली राज्य नेशनल अपराध सरधना आर्थिक जगत BULANDSHAHAR
सरधना के ऐतिहासिक कैथोलिक चर्च में उमड़ा आस्था का सैलाब
November 10, 2019 • TRUE स्टोरी टीम

(Ahmad husain)
प्रत्येक वर्ष लगने वाले मेले में बड़ी संख्या में पहुंचे श्रद्धालू।माता मरियम की चमत्कारी तस्वीर के सामने मांगी मन्नत। सरधना चर्च परिसर में लगने वाले कई दशकों पुराने दो दिवसीय मेले में करीब दो लाख श्रद्धालुओं ने पहुंचकर कृपाओ की माता के महोत्सव में चमत्कारी तस्वीर के समक्ष आर्शीवाद प्राप्त क्या शनिवार देर रात तक करीब एक लाख से भी ज्यादा श्रद्धालु सरधना पहुंचे  इनमें दिल्ली, हरियाणा, पंजाब, जम्मू कश्मीर और उत्तराखंड आदि राज्यों से आये श्रद्धालुओं की तादात अधिक है।सन 1822 ईसवी  में बने तथा राजकीय बसिलिका का दर्जा प्राप्त सरधना चर्च, कृपाओं की माता का पवित्र स्थान है। इसमें स्थापित इटली से लाई गई माता मरियम की पवित्र तस्वीर के दर्शन के लिये प्रतिवर्ष नवंबर माह के दूसरे शनिवार व रविवार को देशभर से लाखों की तादात में श्रद्धालु सरधना पहुंचते है। लेकिन पिछले कई वषों से श्रद्धालुओं की संख्या अधिक देखते हुए मेला प्रशासन की ओर से इसको दो दिवसीय कर दिया गया इस बार भी शुक्रवार शाम से चर्च परिसर के बाहर व अंदर श्रद्धालु पहुंचे शुरू हो गए थे
     आस्था के इस संगम की सबसे बडी खासियत विभिन्न धर्माे के लोगों का भी मेले में आना है। चर्च महोत्सव एक तरह से हिन्दू, मुस्लिम, इसाई व सिक्ख धर्म के लोगों के मिलन का केन्द्र बनता जा रहा है। शनिवार को भी सरधना में माता मरियम की चमत्कारी तस्वीर के दर्शन करने पहुंचे श्रद्धालुओं में सभी धर्मो के लोग शामिल रहे। इसी तरह चर्च परिसर व अंदर हिन्दू हो या मुसलमान, सिक्ख हो या इसाई सभी धर्म के लोग महोत्सव में आने वाले श्रद्धालुओं की खातिरदारी में लगे है। चमत्कारी तस्वीर के आगे माथा टेंकने के लिये लोग लाईन में लग कर माता मरियम की चमत्कारी तस्वीर के दर्शन करते है। रविवार को जम्मू से राहुल मसीह अपनी पत्नी व माँ के साथ माता मरियम के दर्शन करने सरधना पहुंचे। राहुल  मसीह ने बताया कि माता मरियम के समक्ष उन्होंने पिछले साल शादी होने और नौकरी लगने की मन्नत मांगी थी।  जिस पर माता मरियम की कृपा से शादी भी हो गई और नौकरी भी मिल गई अब वह माता मरियम को धन्यवाद बोलने आया है। रविवार को दिन में कई प्रार्थना सभाओं का आयोजन किया गया। सुबह 8 बजे पवित्र मिस्सा बलिदान,तथा  10 बजे विशेष प्रार्थना कराइ गयी है।  
      एसडीएम अमित कुमार भारती व सीओ पंकज कुमार थाना प्रभारी उपेन्द्र कुमार मलिक गश्त करते हुए बराबर सुरक्षा व्यवस्था का जायजा लेते रहे।। चर्च के फादर पाकी नाथन के मुताबिक बड़ी संख्या में श्रद्धालु माता मरियम की चमत्कारी तस्वीर के दर्शन कर चुके है। शाम 4 बजे  जुलूस के रूप में चमत्कारी तस्वीर को चर्च परिसर से जुलूस के रूप में ले जाकर नगर के सेंट चार्ल्स इंटर कॉलेज में जिसको चर्च निर्मित करने वाली बेगम समरू का महल भी कहा जाता है सजाया गया इस जुलूस में धार्मिक श्रद्धालुओं के साथ साथ एनसीसी कैडेट्स दूरदराज से आए हजारों लोगों ने भाग लिया!

अहमद हुसैन
True स्टोरी