ALL स्वास्थ्य मुज़फ्फरनगर शामली राज्य नेशनल अपराध सरधना आर्थिक जगत BULANDSHAHAR
सरधना में कोरोना पोजेटिव मिले इकबाल के परिवार के दस लोगों की हुई सैंपलिंग
May 13, 2020 • TRUE स्टोरी टीम

 

(अहमद हुसैन)

सब्जी मंढी से जुड़े व अन्य 16 लोगों की भी सैंपलिंग की गयी ।सरधना (मेरठ) मेरठ फल मंडी से कोरोना पोजेटिव मिले मोहल्ला कस्साबान निवासी इकबाल के परिवार के दस सदस्यों सहित बुद्धवार को कुल 26 लोगों की सैंपलिंग की गयी। सभी की जांच के सैंपल मेरठ लैब भेजे गए है यह जानकारी चिकित्सा प्रभारी डॉ राजेश कुमार ने दी। 
बतादें कि सरधना में उस समय हड़कंप मच गया था जब मेरठ की सब्जी व फ्रूट्स मंढी से जुड़े एक व्यापारी की मौत के बाद हुई जाँच में 16 व्यापारी कोरोना पोजेटिव पाए गए थे। जिसके बाद प्रशासन ने उनके संपर्क में रहने वाले सरधना मंढी से जुड़े व्यापारियों को टारगेट में लिया था यहाँ 100 से अधिक लोगों को चिन्हित किया गया था। जिसमे सबसे पहले 6 मई को 15 लोगों को नगर में लोक प्रिया इंटर कॉलेज में बने क्वारंटाइन सेंटर भेजा गया था जिसके बाद उनकी सैंपलिंग हुई थी जिनमे से 8 मई को मोहल्ला कस्साबान निवासी धनिया उर्फ़ इकबाल की रिपोर्ट कोरोना पोजेटिव आई थी। जिसके तुरंत बाद ही प्रशासन ने सरधना को सील कर दिया था मोहल्ला कस्साबान सहित कई मोहल्लों को हॉटस्पॉट घोषित कर बैरिकेटिंग करके फ़ोर्स तैनात किया गया था और इकबाल के परिवार के दस सदस्यों को तुरंत क्वारंटाइन सेंटर भेज दिया गया था। इसके अलावा 9 मई को नगर के 17 लोगों को भी क्वारंटाइन किया गया था। सभी की जाँच की गयी सभी की रिपोर्ट निगेटिव आने के बाद लोगों ने राहत की सांस ली थी सभी 17 लोगों को होम ककरनटाइन किया गया है। बुद्धवार को इकबाल के परिजनों सहित कुल 26 लोगों की सैंपलिंग कर जांच के लिए भेजी गयी है। यह जानकारी प्रभारी चिकित्साधिकारी राजेश कुमार ने दी। उन्होंने बताया की इकबाल के परिजनों के अलावा फल मंढी से जुड़े व्यापारियों को क्वारटाइन किया गया था जिनकी सैंपलिंग की गयी है। 
बतादें कि मेरठ में दिल्ली रोड स्थित नवीन सब्जी मंडी में कोरोना संक्रमण की स्थिति विस्फोटक हो गई है। यहां चौबीस घंटे के अंदर 24 केस सामने आ चुके हैं। इसके बाद मेरठ में कुल मरीजों की संख्या 155 हो गई है। नवीन सब्जी मंडी से मेरठ शहर ही नहीं बल्कि वेस्ट यूपी के अन्य शहरों और दिल्ली से उत्तराखंड तक सप्लाई होती है इसलिए यहां से कोरोना के चेन लंबी होने की आशंका जताई जा रही है। ऐसे में जिला प्रशासन ने मंडी के टाइम टेबल में बदलाव करते हुए कई जरूरी कदम उठाए हैं। मंडी के एक कारोबारी की दिल्ली में मौत हो चुकी है।  फल कारोबारी की मौत के बाद स्वास्थ्य विभाग ने मेरठ मण्डी से 63 लोगों की पूल सैंपलिंग कराई थी। इससे मंडी में छिपा हुआ कोरोना का जिन्न खुलकर सामने आ गया। यानी सब्जी बेचने वाले ही कोरोना संक्रमित निकले और यहां से एक बड़ी कोरोना चेन पूरे इलाके में बन गई है। मेरठ में अब संक्रमितों का आंकड़ा 165 हो गया है। अब मंडी से जुड़े कारोबारियों का पता लगाया जारहा है। इसी कड़ी में सरधना मंडी से जुड़े 100 से अधिक कारोबारी मेरठ मंडी में आते जाते रहे है।
------
अहमद हुसैन
True story