ALL स्वास्थ्य मुज़फ्फरनगर शामली राज्य नेशनल अपराध सरधना आर्थिक जगत BULANDSHAHAR
विश्व मधुमेह दिवस आज, स्वास्थ्य विभाग लगाएगा हेल्थ चेकअप कैंप
November 13, 2019 • TRUE स्टोरी टीम

 मधुमेह दिवस पर गुरूवार को जनपद गौतमबुध नगर में स्वास्थ्य विभाग जागरूकता कार्यक्रम चलाएगा। इस कार्यक्रम के तहत लोगों को मधुमेह के प्रति जागरूक किया जाएगा। जनपद में जिला अस्पताल समेत सभी सामुदायिक व प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्रों पर हेल्थ चेकअप कैंप लगाए जाएंगे। मुख्य चिकित्सा अधिकारी कार्यालय पर हस्ताक्षर अभियान चलाया जाएगा।गैरसंचारी रोगों के नोडल अधिकारी डा. भारत भूषण ने यह जानकारी दी। उन्होंने बताया हर वर्ष 14 नवम्बर को विश्व मधुमेह दिवस मनाया जाता है। सन् 1991 में अंतरराष्ट्रीय मधुमेह संघ और विश्व स्वास्थ्य संगठन की पहल पर 160 से अधिक देशों में मधुमेह दिवस मनाया जाता है। इस वर्ष की थीम है 'द फैमिली एंड डायबिटीज'। उन्होंने कहा मधुमेह के मरीजों के लिए संयम और सतर्कता जरूरी है। मरीज खानपान और स्वास्थ्य का ध्यान रखकर इस बीमारी पर नियंत्रण रख सकते हैं। दवा के नियमति सेवन, खून में शुगर की नियमित निगरानी, सही आहार व नियमित व्यायाम से इस बीमारी को नियंत्रित किया जा सकता है। यही सब संदेश देने के लिए स्वास्थ्य विभाग द्वारा गुरूवार को जनपद में जागरूकता कार्यक्रम किये जाएंगे। इसके तहत जिला अस्पताल, जेवर, भंगेल, दादरी, ढाडा व बादलपुर सामुदायिक केंद्र तथा सभी प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्रों पर हेल्थ चेकअप कैंप लगाए जाएंगे। कैंप में लोगों के मधुमेह की जांच की जाएंगी। बीमारी को लेकर उनकी काउंसलिंग की जाएगी और जरूरत के हिसाब से उन्हें दवा उपलब्ध करायी जाएगी। उन्होंने कहा कि इस दिवस को मनाने का मुख्य उद्देश्य लोगों को इस बीमारी के प्रति जागरूक करना है। कैंप में चिकित्सक लोगों को यह बताएंगे कि थोड़ी सी जागरूकता से इस बीमारी को काबू में रखा जा सकता है, बस इसके लिए नियमित व्यायाम, संयमित भोजन और अपनी दिनचर्या दुरुस्त रखने की जरूरत है।

दो कारणों से होता हैं मधुमेह-

1-जब किसी व्यक्ति के शरीर में इंसुलिन बनना बंद हो जाती है।

2- जब किसी व्यक्ति के शरीर की कोशिकाएं बन रही इंसुलिन पर प्रतिक्रिया नहीं करतीं।

बीमारी के लक्षण-

भूख-प्यास अधिक लगना, अचानक वजन कम होने लगना, धुंधला दिखना, बार-बार पेशाब लगना, सांस फूलना, जल्दी थकान महसूस होना, शरीर में खुजली होना, किसी भी घाव को ठीक होने में जरूरत से ज्यादा समय लगना।